Loading...    
   


इंदौर-उज्जैन लॉक रहेंगे, भोपाल मे ढील दी जाएगी, खरगोन-रायसेन पर अनिश्चितता / MP NEWS

भोपाल। हर कोई जानना चाहता है कि 3 मई के बाद क्या होगा। समाचार यह है कि 3 मई के बाद आधा मध्य प्रदेश (जहां कोरोनावायरस का कोई मामला नहीं मिला) पूरी तरह से खुल जाएगा। 30 जिलों में से 2 जिले इंदौर और उज्जैन पूरी तरह से बंद रहेंगे। भोपाल में थोड़ी ढील दी जाएगी। खरगोन और रायसेन का फैसला 2 मई तक आने वाली रिपोर्ट के बाद किया जाएगा।

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह सरकार ने लॉकडाउन से बाहर आने की योजना बनानी शुरू कर दी है। भोपाल, धार, खरगोन व होशंगाबाद के कंटेनमेंट क्षेत्र को छोड़कर बाकी जगह कामकाज में ढील दी जाएगी। ग्रीन जोन के 25 जिलों में ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी इलाकों में भी गतिविधियां बढ़ाई जाएंगी। यहां ऑफिस व फैक्ट्रियों में मेनपॉवर 33 से बढ़ाकर 50 फीसदी किए जाने की तैयारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के समक्ष अधिकारियों ने इसके बिंदु बताए। इस दौरान तय हुआ कि केंद्रीय गृह मंत्रालय लॉकडाउन खोलने की जो गाइडलाइन जारी करेगा, उसी आधार पर मप्र प्लान बनाएगा। 

वर्क प्लेस के लिए : 
छोटे उद्योग खुलेंगे। जो बड़े उद्योग रेड जोन के पास नहीं हैं और उनके पास मेनपावर की सुविधा है, वे 50% मजदूरों के साथ खुल सकेंगे। पीथमपुर, देवास, मंडीदीप को गाइडलाइन में छूट।  

आवाजाही : 
भोपाल, इंदौर, खरगोन, उज्जैन के हॉटस्पॉट व कंटेनमेंट क्षेत्रों में सख्ती पूर्ववत रहेगी। धार, खंडवा, जबलपुर, रायसेन, होशंगाबाद, बड़वानी, देवास, मुरैना, विदिशा, रतलाम व आगर मालवा में खुली आवाजाही को छोड़ बाकी ढील मिल सकती है। ऑरेंज और ग्रीन जोन के जिलों में ग्रामीण इलाकों में तो कामकाज प्रारंभ हुआ है, यहां अब शहरी इलाकों में भी गतिविधियां बढ़ाई जाएंगी। सार्वजनिक परिवहन और निजी गाड़ियों के इस्तेमाल की छूट मिलेगी। 

बाजार प्रोटोकॉल के साथ खोला जाएगा
रेड जोन के जिलों में बड़े बाजार नहीं खुलेंगे। इलेक्ट्रॉनिक्स, स्टेशनरी शॉप के बारे में तीन मई को फैसला लिया जाएगा। छोटे बाजार, ग्रीन व ऑरेंज जोन के हाट को कुछ प्रोटोकॉल के साथ खोला जा सकता है। 

30 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

संसद में उल्टे पंखे किसने और क्यों लगवाए थे, आइए रहस्य की बात जानते हैं 
IAS बनना कोई रॉकेट साइंस नहीं है: निशांत जैन 13th रैंक ने कहा 
रेंट एग्रीमेंट 11 महीने के लिए क्यों होता है, 6 या 12 महीने का क्यों नहीं होता 
छोटे-मोटे विवाद में धमकी देने पर क्या FIR दर्ज हो सकती है, पढ़िए 
मध्यप्रदेश में 30 अप्रैल से सामान्य सरकारी कामकाज शुरू 
ग्वालियर में शादी के लिए नए नियम जारी, दूल्हा और दुल्हन अलग-अलग गाड़ियों में जाएंगे
मध्यप्रदेश में लॉक डाउन ई-पास के नियम संशोधित 
मध्य प्रदेश में शासकीय कार्यालय संचालन के लिए आदेश क्रमांक 43 
बंदूक की गोलियों की तरह आसमान से गिरे ओले, पेड़ पर सो रहे हजारों पक्षी मर गए 
यदि हत्या के लिए बंदूक का ट्रिगर दबाए लेकिन गोली ना निकले, किस धारा के तहत FIR होगी 
किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने और ब्याज घटाने की मांग 
DAVV: 20 जून से हो सकते हैं एग्जाम 
मध्य प्रदेश 2500 के पार, भारत में चौथे नंबर पर, 1 दिन में 173 पॉजिटिव 
सिंधिया के ईमेल का असर: चना-सरसों किसानों को राहत मिलेगी, शिवराज का बयान 
SLAP KINGS बना दुनिया का सबसे लोकप्रिय मोबाइल गेम, PUBG और Call Of Duty को पीछे छोड़ा
कोरोना से बच गया लेकिन क्वॉरेंटाइन में मर गया, 19 साल के युवक की संदिग्ध मौत


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here