Loading...    
   


VIP PUB से निकले कारोबारी के बेटे का अपहरण, चाकू मारे | INDORE NEWS

इंदौर। ट्रैवल व्यवसायी के 23 वर्षीय बेटे के अपहरण का मामला सामने आया है। युवक ऑस्ट्रेलिया से एमबीए कर रहा है। वह छुट्टियां बिताने इंदौर आया हुआ है। आरोपितों ने उससे दो लाख रुपए की मांग की और रातभर कार में घुमाते रहे। रुपए नहीं देने पर शरीर पर चाकू से घाव कर दिए। पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। 

VIP PUB में मोहित शर्मा का संचालक रोहन मकवाना से झगड़ा हुआ था

एसपी (इंदौर पूर्व) मोहम्मद यूसुफ कुरैशी के मुताबिक, घटना 28 व 29 फरवरी की दरमियानी रात की है। रेसकोर्स रोड निवासी ट्रैवल व्यवसायी अनिल शर्मा का बेटा मोहित शर्मा 56 दुकान स्थित VIP PUB में पार्टी करने गया था। देर रात पार्टी समाप्त होने पर उसने भुगतान के लिए पब कर्मचारी को कार्ड सौंपा तो स्वाइप नहीं हुआ। मोहित ने पब संचालक रोहन मकवाना से कहा कि कैसी मशीन रखते हो। बार-बार कोशिश करने के बाद भी कार्ड स्वाइप नहीं हो रहा है। इस पर दोनों में बहस हुई और भाटी नामक कर्मचारी ने मोहित से धक्कामुक्की कर दी। 

मोहित शर्मा को साकेत से अपहरण कर राऊ ले गए

यहां से मोहित अपनी कार लेकर साकेत स्थित एक रेस्त्रां पर मैगी व सेंडविच खाने चला गया। कुछ देर बाद पांच युवक आए और मोहित को चाकू अड़ा दिया। उसे कार में बैठा लिया और एक आरोपित ने कार स्टार्ट कर ली। उसकी आंखों पर पट्टी बांध दी और हत्या की धमकी देकर राऊ की ओर ले गए। 

₹200000 मांगे, नहीं दिए तो चाकू मार दिए

आरोपितों ने उसका एटीएम कार्ड और मोबाइल भी छीन लिया और दो लाख रुपए मांगने लगे। रुपए नहीं देने पर चोरल ले गए और चाकू से गोदना शुरू कर दिया। मोहित घबरा गया और कहा कि मुझे घर छोड़ दो 50 हजार रुपए दे दूंगा। शेष डेढ़ लाख रुपये की भी एक-दो दिन में व्यवस्था कर दूंगा। मोहित के मुताबिक, आरोपित दूसरे दिन सुबह 10 बजे तक यूं ही घुमाते रहे।

भयभीत मोहित शर्मा 2 दिन तक चुप रहा

फरियादी अनिल शर्मा के मुताबिक, आरोपितों ने मोहित से एटीएम कार्ड छीनकर उसका पासवर्ड भी ले लिया। रिपोर्ट लिखवाने पर जान से मारने की धमकी दी और दो आरोपित विजय नगर चौराहे पर उतर गए। तीन आरोपित 56 दुकान के पास छोड़कर फरार हो गए। घबराए मोहित ने दो दिन बाद चाची को घटना बताई और शरीर के जख्म दिखाए। 

पुलिस ने आवेदन लेकर टकराया, पिता ने फुटेज से ढूंढे आरोपित

अनिल शर्मा पलासिया थाने पहुंचे तो एसआई माधवसिंह भदौरिया ने आवेदन लेकर रवाना कर दिया। शर्मा स्वयं वीआईपी पब पहुंचे और संचालक रोहन मकवाना से पूछताछ की। उसके खिलाफ शिकायत की धमकी दी तो मकवाना ने एक आरोपित का सीसीटीवी फुटेज बताया। वह आईजी विवेक शर्मा के पास पहुंचे और पूरा घटनाक्रम बताया। 

आईजी की फटकार के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया

आईजी की फटकार के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और घटना में शामिल आरोपित सचिन गुप्ता (न्यू पलासिया) और अक्की (परदेशीपुरा) को गिरफ्तार कर लिया। उनके साथी राजा यादव (जनता क्वार्टर), साहिल बच्चा (परदेशीपुरा) और समीर की तलाश है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here