हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं, सिंधिया तो मंत्री बनने भाजपा में गए हैं: दिग्विजय सिंह | MP NEWS
       
        Loading...    
   

हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं, सिंधिया तो मंत्री बनने भाजपा में गए हैं: दिग्विजय सिंह | MP NEWS

Digvijay Singh statement @ jyotiraditya Scindia

भोपाल। बेंगलुरु में विधायक जीतू पटवारी के नेतृत्व में की गई सर्जिकल स्ट्राइक फेल होने के बाद मध्यप्रदेश में कांग्रेस के कुलदेवता दिग्विजय सिंह थोड़े निराश नजर आए थे परंतु शुक्रवार को एक बार फिर उत्साहित नजर आए। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार को कोई खतरा नहीं है। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्रीय मंत्री बनने के लिए भाजपा में गए हैं। बाकी सब कुछ तो उन्हें कांग्रेस में मिल रहा था।

राज्यसभा में हम दोनों एक साथ जा सकते थे, कोई दिक्कत नहीं थी

दिग्विजय सिंह ने फिर दोहराया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए राज्यसभा जाने में कोई दिक्कत नहीं थी। ये सब मंत्री बनने के लिए हुआ है। सिंधिया को राज्यसभा तो हम ही भेज देते, लेकिन हम उनको मंत्री नहीं बना सकते थे। राज्यसभा में उनको भी टिकट दे देते, मुझको भी दे देते, दोनों हो जाते। कांग्रेस अध्यक्ष कहतीं कि दिग्विजय तुमको नहीं सिंधिया को राज्यसभा में भेजना है तो मुझे क्या दिक्कत होती।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जो कहा पार्टी ने पूरा किया, सारी बातें मानी जा रही थी

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मौजूदा राजनीतिक संकट के लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं। जो जिम्मेदार हैं, वे सब सामने तो आ गए हैं। आखिर किसी को भी दिक्कत क्या थी, जब सारी बातें मानी जा रही थी। अफसरों की पोस्टिंग पसंद के हिसाब से की जा रही थी, जो कहा जा रहा था पार्टी पूरा कर रही थी। अतिमहत्वाकांक्षा तो पूरी नहीं की जा सकती।

लोकसभा चुनाव हारने के बाद व्यथित हो गए थे ज्योतिरादित्य सिंधिया

दिग्विजय सिंह ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस में परेशानी की शुरुआत लोकसभा चुनाव हारने के बाद शुरू हुई। वे इससे व्यथित हो गए थे। उनकी अति महत्वाकांक्षा को कांग्रेस पूरा नहीं कर पा रही थी। इसीलिए वह भारतीय जनता पार्टी में चले गए। 

सरकार को कोई संकट नहीं है 

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में हमारी सरकार को कोई संकट नहीं है। हमारे विधायकों को बेंगलुरु में भाजपा ने बंधक बनाया था। जैसे ही वह भोपाल में आ जाएंगे सारी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। हम फ्लोर टेस्ट या मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार हैं। हमें किसी भी प्रकार का कोई डर नहीं है।