बिजनेस पार्टनर की गोली मारकर हत्या | MP NEWS
       
        Loading...    
   

बिजनेस पार्टनर की गोली मारकर हत्या | MP NEWS

सतना। कोलगवां थाना अंतर्गत उतैली में शराबखोरी के दौरान हुए विवाद पर युवक ने अपने ही बिजनिस पार्टनर पर फायर कर मौत के घाट उतार दिया। इस सनसनीखेज घटना के कुछ घंटे बाद ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर देशी पिस्टल जब्त कर ली। टीआाई मोहित सक्सेना ने बताया कि सोनौरा निवासी दीपक द्विवेदी पुत्र लालमन द्विवेदी 35 वर्ष अपनी पत्नी पूजा और 2 बेटियों के साथ बाईपास रोड उतैली में रहता था। 

शनिवार रात को घर पर नौकर मुकेश सेन उर्फ बंटू पुत्र चंद्रिका प्रसाद रूका था, जबकि पत्नी आदर्श नगर स्थित मायके चली गई थी। रात करीब 11 बजे दीपक का मित्र और पार्टनर सौरभ सिंह उर्फ गुंजन पुत्र लखपत सिंह 27 वर्ष निवासी नेबुहा थाना बैकुंठपुर जिला रीवा हाल मुख्त्यारगंज अपनी स्कूटी से उतैली पहुंच गया, जिसके बाद दोनों लोग बाहर के कमरे में बैठकर शराब पीने लगे। काफी देर हो जाने पर मुकेश बगल के कमरे में सोने चला गया, तभी लगभग डेढ़ बजे गोली चलने की आवाज सुनकर उसकी नींद टूटी तो देखा कि दीपक जमीन पर खून से लथपथ होकर तड़प रहा है जबकि सौरभ स्कूटी लेकर भाग निकला। 

नौकर ने परिजनों को फोन करने का प्रयास किया, पर जब बात नहीं हुई तो मालिक को अस्पताल ले जाने के लिए घसीटकर बरामदे तक लाया। इसके बाद गाड़ी लेकर पूजा को बुलाने निकल पड़ा, रास्ते में पुलिस की पेट्रोलिंग टीम के आरक्षक देवेंद्र सेन मिल गए जिनको बंटू ने घटना से अवगत कराया तो वह फौरन मौके पर पहुंच गए। आरक्षक ने थाना प्रभारी को सूचित करने के साथ ही पुलिस जीप में घायल को लेटाकर अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। इस बीच संग्राम कॉलोनी में रहने वाले दीपक के पिता लालमन द्विवेदी, मां उमा द्विवेदी, मझले भाई विकास और छोटे भाई पियूष को भी खबर लग गई तो सभी लोग अस्पताल आ गए।

घटना के कुछ देर बाद ही सूचना मिल जाने पर हरकत में आई पुलिस ने सरगर्मी से आरोपी की तलाश शुरू कर दी। इसी बीच मुखबिर से मिली सूचना पर स्टेशन रोड में घेराबंदी कर सौरभ उर्फ गुंजन को पकड़ लिया गया। आरोपी तब स्टेशन से ट्रेन पकड़कर बाहर जाने की कोशिश कर रहा था, उसने देशी पिस्टल घर पर छिपा दी थी जिसे जब्त करते हुए 1 गोली और खाली खोका भी बरामद किया गया। नौकर बंटू की शिकायत पर आईपीसी की धारा 302 और 25/27 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया है। हत्याकांड की सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी, फारेंसिक अधिकारी डा. महेन्द्र सिंह और कोलगवां टीआई मोहित सक्सेना के साथ रविवार सुबह घटनास्थल का मुआयना करने पहुंचे, जहां उन्होंने मृतक के परिजनों और प्रत्यक्षदर्शी नौकर से पूछताछ की तो जांच टीम को जरूरी साक्ष्य जुटाने के निर्देश दिए।