होली के रंगों से पहचानिए किसके दिल में क्या छुपा है | HOLI RANG KE RAHASYA
       
        Loading...    
   

होली के रंगों से पहचानिए किसके दिल में क्या छुपा है | HOLI RANG KE RAHASYA

होली रंगों का त्योहार है। यह उत्साह और उमंग का त्यौहार है। लोग एक दूसरे को रंग लगाते हैं। गुलाल लगाते हैं। ज्यादातर लोग अपनी पसंद का रंग और गुलाल खरीदते हैं। यह सबसे अच्छा मौका होता है जब आप उन लोगों के रहस्य जान सकते हैं जो आपके अपने हैं, जिनका आपके जीवन पर प्रभाव पड़ता है। 

लाल रंग का गुलाल लगाने वाला व्यक्ति कैसा होगा

लाल रंग को ऊर्जा, उत्साह, महत्वाकांक्षा, उग्रता, उत्साह और पराक्रम का प्रतीक माना जाता है। इस रंग को प्यार और कामुकता का प्रतीक भी माना जाता है। इससे इंसान में जोश भरता है। ऐसा व्यक्ति जो आपको लाल रंग या गुलाल लगाता है, वह महत्वाकांक्षी, पराक्रमी, उग्र स्वभाव वाला, उत्साह और ऊर्जा से भरपूर होगा।

पीला रंग और गुलाल लगाने वाला व्यक्ति कैसा होगा

पीले रंग को आरोग्य, शांति और एश्वर्य का प्रतीक माना जाता है। इस रंग से मन अध्यात्म की ओर अग्रसर हो जाता है। ऐसा व्यक्ति जो आपको पीला गुलाल या रंग लगाता है, ईमानदार होगा, भगवान के प्रति आस्थावान होगा, उसका स्वभाव शांत रहेगा, वह अपने संचित धन का सदुपयोग करेगा। 

हरा रंग या फिर हरा गुलाल लगाने वाला व्यक्ति कैसा होगा

हरा रंग, हरियाली, शीतलता, ताजगी, और सकारात्मकता का होता है। इस रंग से मन की चंचलता दूर होती है और इस रंग को सुकून पहुंचाने वाला माना जाता है। हरे रंग से आत्मविश्वास, प्रसन्नता और शीतलता मिलती है। ऐसा व्यक्ति जो आपको हरे रंग का गुलाल या फिर हरा रंग लगाता है, अपनी लाइफ में कॉन्फिडेंट होगा, पॉजिटिव रहेगा, विषम परिस्थितियों में बाहर निकलने का रास्ता खोजने वाला होगा, उसका स्वभाव उग्र नहीं होगा, वह शांत स्वभाव का होगा।

नीला रंग या फिर गुलाल लगाने वाला व्यक्ति कैसा होगा

नीले रंग को कोमलता और स्नेह के साथ वीरता, पौरुषता का प्रतीक माना जाता है। ऐसा व्यक्ति जो होली के दिन आपको नीले रंग का गुलाल या फिर रंग लगाता है, न्याय प्रिय होगा, समुद्र की तरह शांत लेकिन हृदय में कई तूफान लिए हो सकता है। परिवार या समाज की समस्याओं का समाधान इसके पास होगा। ऐसा व्यक्ति कभी हाईपर नहीं होगा। 

नारंगी रंग या फिर गुलाल लगाने वाला व्यक्ति कैसा होगा

नारंगी रंग खुशमिजाजी और सामाजिक सरोकार का प्रतीक है। इस रंग के प्रयोग से व्यक्ति ज्ञानवान और विचारवान होता है। ऐसा व्यक्ति मानसिक रूप से काफी मजबूत होगा। इसके सामाजिक संबंध अच्छे होंगे। यह हंसमुख होगा। सभी से मिलजुलकर चलेगा। भले ही यह धनवान हो या ना हो लेकिन समाज में सभी का प्रिय होगा। 

विशेष नोट: कृपया अपने परिजनों के बारे में किसी भी प्रकार की धारणा बनाने से पहले उनके पसंदीदा रंग के बारे में सुनिश्चित कर लें। कई बार ऐसा भी होता है कि कुछ आलसी लोग दूसरों का रंग लेकर आपको लगाने चले आते हैं। या फिर रंग का चयन करने और खरीदने के लिए किसी और को भेज देते हैं। उन्हें जो उपलब्ध हो जाता है वही रंग उपयोग कर लेते हैं। बताने की जरूरत नहीं कि ऐसे लोग लापरवाह होते हैं, ऑफिस या घर में अक्सर ताने सुनते रहते हैं। इन्हें लोगों की परवाह नहीं होती। यह अपनी मस्ती में मस्त होते हैं। विफलता है इन्हें विचलित नहीं करती और सफलता इन्हें उत्साहित नहीं करती। 
(श्री वेंकटेश ज्योतिष एवं अनुसंधान केंद्र, भोपाल मध्य प्रदेश। 9425137664)