आतिथि शिक्षिक नमस्ते ओरछा कार्यक्रम में सरकार का विरोध करेंगे | ATITHI SHIKSHAK NEWS
       
        Loading...    
   

आतिथि शिक्षिक नमस्ते ओरछा कार्यक्रम में सरकार का विरोध करेंगे | ATITHI SHIKSHAK NEWS

भोपाल। अतिथि शिक्षक समन्वय समिति के प्रदेश अध्यक्ष सुनील परिहार द्वारा बताया गया है कि   6 मार्च को जिला निवाड़ी के ओरछा में होने वाले नमस्ते ओरछा में अतिथि शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल पहुंचकर सरकार का विरोध करेंगे यदि  सरकार ने अधिक शिक्षकों के मांगों का समर्थन नहीं किया तो  अतिथि शिक्षक सरकार के मुर्दाबाद के नारे लगाएंगे। अतिथि शिक्षक सरकार के वादाखिलाफी के लिए मुख्यमंत्री को काले झंडे भी दिखाएंगे। बता देगी अतिथि शिक्षक पिछले 74 दिन से शाहजनी पार्क भोपाल में सत्याग्रह कर रहे हैं और पिछले कई दिनों से डोर टू डोर सत्याग्रह करना शुरू कर दिया है। 5 मार्च को अतिथि शिक्षकों का शिष्टमंडल लोक शिक्षण संचनालय मैं जाकर आयुक्त जय श्री क्रियावत से भेंट करने की कोशिश की लेकिन मुलाकात नहीं हो पाई अतिथि शिक्षकों के शिष्टमंडल में अनीता चंदानी फहीम खान रविकांत गुप्ता शामिल रहे 74 वे दिन सत्याग्रह का नेतृत्व अनवर अहमद कुरेशी देवेंद्र शाक्य रामस्वरूप गुर्जर जगदीश शास्त्री प्रीति चौबे अनीता श्रीवास्तव ने किया।

सरकार अतिथि शिक्षकों की सेवा 30 अप्रैल तक बढ़ाकर फिर से चली चाल

अतिथि शिक्षक संगठन ने सरकार सरकार से मांग किया था कि अतिथि शिक्षकों की सेवाएं 30 मार्च तक कर कर दिया जाए और 30 मार्च के अंदर ही सभी अतिथि शिक्षकों को वर्ष बार अनुभव का अंक देकर उनके स्कोरकार्ड में जोड़ दिया जाए और स्कोरकार्ड 15 मार्च तक जनरेट कर दिया जाए और सत्र 2020-21 के लिए अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था 1 अप्रैल से कर लिया जाए जिसमें बाहर हुए अधिक शिक्षकों को भी लाभ प्राप्त हो सके । सरकार जानबूझकर इस प्रकार का आदेश करती है जिससे अतिथि शिक्षकों की भर्ती जुलाई और अगस्त का समय निकाल जाए।

महिला प्रदेश अध्यक्ष अनिता हरचंदानी ने कहा कि सरकार द्वारा जुलाई में अतिथि शिक्षकों की भर्ती के लिए आदेश निकाला जाता है जिससे जुलाई-अगस्त का माह भर्ती में ही निकल जाता है अगर यही भर्ती सरकार 1 अप्रैल से कर ले और हमें 12 माह का मानदेय देना शुरू कर दे तो छात्रों का पठन-पाठन भी प्रभावित नहीं होगा और 12 माह का मानदेय मिलने से अतिथि शिक्षक भी अपना जीवन यापन आसानी पूर्वक कर पाएंगे।