डीडी नगर में सैक्स रैकेट: 3 लड़कियां, नगर निगम का ठेकेदार, क्लर्क सहित 9 पकड़े | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

डीडी नगर में सैक्स रैकेट: 3 लड़कियां, नगर निगम का ठेकेदार, क्लर्क सहित 9 पकड़े | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। दीनदयाल नगर में घनी आबादी के बीच एक मकान में चल रहे सैक्स रैकेट का खुलासा पुलिस ने किया है। देह व्यापार का अड्डा चलाने वाली एक महिला है जो ग्वालियर के अलग अलग इलाकों से कॉल गर्ल बुलवाती है। पुलिस ने यहां छापा मारने से पूर्व बाकायदा सिपाही को ग्राहक बनाकर भेजा। इसके बाद छापा मारा गया। मकान में कमरों के अन्दर से तीन कॉल गल्र्स और चार ग्राहक पकड़े गये। जबकि वह महिला जो यह अड्डा संचालित कर रही थी और उसका बॉयफ्रेंड भी पकड़ा गया है।

सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया ने बताया कि डीडीनगर के जीएल सेक्टर स्थित मकान नम्बर 1545 में कई दिनों से संदिग्ध गतिविधियां चल रही थीं। तीन दिन पूर्व एसपी नवनीत भसीन को वाट्सएप पर क्षेत्रवासियों ने शिकायत की। उन्होंने मुझे इसकी पड़ताल लिये लगाया। इसके बाद महाराजपुरा थाने के तीन सिपाहियों की टीम को मकान के आसपास सिविल ड्रेस में लगाया गया। दो दिन तक वॉच करने के बाद जब यह पुष्टि हो गयी कि मकान में दिनभर अलग अलग लोगों को आना जाना रहता है, तब सिपाही को ही ग्राहक बनाकर वहां भेज दिया। मकान का दरवाजा एक महिला ने खोला। सिपाही ने ग्राहक बनकर बात की। सीएसपी के अनुसार महिला ने सिपाही के सामने लड़कियों के फोटो रखे, फिर एक लडक़ी उसके सामने पेश कर दी। सिपाही ने महिला को बातों में उलझाया और एसएमएस कर दिया। कुछ ही देर में मैं और सीएसपी नागेन्द्र सिकरबार व टीआई आसिफ मिर्जा बेग फोर्स के साथ पहुंच गये। पुलिस के पहुंचते ही महिला हंगामा करने लगी। जब मकान के दरवाजे खुलवाये तो उसमें तीन जोड़े संदिग्ध अवस्था में पकड़े गये। इन सभी को थाने ले जाया गया।

सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया के अनुसार सेक्स रैकेट की मास्टरमाइंड महिला के पति की मौत हो चुकी है। एक वर्ष पूर्व तक वह भिण्ड रोड स्थित एक चॉकलेट फैक्ट्री में कार्य करती थी। यहां उसकी दोस्ती मनीष शाक्य निवासी कंपू से हुई थी। मनीष और वह लिवइन में रहने लगे। दोनों 5 माह पूर्व डीडी नगर के जीएल सेक्टर में मकान नम्बर 1545 अजीत यादव से किराये पर लिया था। अजीत शहर से बाहर रहते हैं।

नगर निगम का बाबू और ठेकेदार भी पकड़े

यहां से चार लोग पकड़े गये हैं। इनके नाम जावेद खान निवासी मेवाती मोहल्ला, दीपक बंसल निवासी मुरार, खेमचंद साहू निवासी लक्ष्मीगंज, डीके राजपूत निवासी वीनस स्कूल के आगे बहोड़ापुर है। इनमें खेमचंद साहू की उम्र 55 वर्ष है। वह नगर निगम में बाबू है। उसके साथ 20 वर्षीय कॉल गर्ल पकड़ी गयी। डीके राजपूत निगम में ही ठेकेदार है। जबकि जावेदन की मीट की दुकान है। जबकि दीपक दुकानदार है।

यहां से एलबम और एक डायरी मिली है। 2 हजार से लेकर 5 हजार रूपये तक एक ग्राहक से लिये जाते थे। इस महिला के एजेंट लश्कर और मुरार इलाके में निवास करते हैं।