Loading...    
   


आजाद अध्यापक शिक्षक संगठन पार्टी विशेष का नहीं है: भरत पटेल | MP NEWS

जबलपुर। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ मंडला के जिला अध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि आजाद अध्यापक शिक्षक संघ मध्यप्रदेश के जिला एवं संभागीय अध्यक्षों की बैठक जबलपुर में प्रांताध्यक्ष भाई भरत पटेल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिसमें संगठनात्मक अनेक मुद्दे पर चर्चा हुई। 

जिलाध्यक्षों को आजीवन सदस्यता को लेकर कुछ जरूरी जानकारी दी गई एवं आजीवन सदस्यता के महत्व को समझाया गया एवं निर्देशित किया गया कि सभी पदाधिकारी आजीवन सदस्यता को जोर शोर से पूर्ण कराएं। संगठन के बायलॉज व संविधान पर विस्तार पूर्वक चर्चा हुई। प्रांताध्यक्ष भरत भाई द्वारा पुरानी पेंशन बहाली को लेकर अपना रुख स्पष्ट किया गया। उन्होंने कहा कि शिक्षक पेंशन अवश्य लेंगे जिसका खुलासा जल्द ही किया जावेगा। सभी जिलाध्यक्षों व संभागीय अध्यक्षों को अपनी बात रखने का अवसर दिया गया व उनकी समस्याओं को सुना गया। 

आदिम जाति कल्याण विभाग की समस्या आई सामने  

बैठक में मुख्य रुप से आदिम जाति कल्याण विभाग की समस्या प्रमुख रही जिसमें प्रत्येक माह वेतन विसंगति को लेकर शिक्षकों में रोष व्याप्त रहता है। प्रत्येक माह मासिक वेतन एवं एरियर के भुगतान हेतु बजट आवंटन का रोना रोया जाता है। भोपाल के द्वारा समय पर आवंटन उपलब्ध नहीं कराना यह एक बड़ी समस्या है एवं विभाग में शिक्षकों के संविलियन को लेकर एवं सातवें वेतनमान को लेकर अपनी समस्या रखी गई।

बैठक में प्रांतीय पदाधिकारी हुए नियुक्त मजाक अध्यापक शिक्षक संघ के सक्रिय सदस्य सागर पटेल को प्रांतीय सचिव एवं  सुनील दुबे को प्रांतीय  प्रवक्ता नियुक्त किया गया। इनकी नियुक्ति से यह आस लगाई जा रही है कि मंडला जिले के शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण भोपाल स्तर पर सरलता से हो सकेगा। इनके पदाधिकारी बनने पर जिले के समस्त शिक्षकों ने हर्ष व्यक्त किया है। 

पार्टी विशेष से जोड़ा जा रहा है संगठन को 

बैठक में कुछ जिला अध्यक्षों ने अपनी समस्या बताते हुए प्रांतीय अध्यक्ष को अवगत कराया कि जिलों में संगठन की भूमिका को पिछली सरकार के साथ जोड़कर पदाधिकारियों के साथ अनुचित व्यवहार किया जा रहा है जो कि अनुचित है। प्रांतीय अध्यक्ष भरत पटेल जी ने इस बात को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी से चर्चा करने की बात कही एवं साथ ही कहा कि आजाद अध्यापक शिक्षक संगठन किसी पार्टी विशेष का संगठन नहीं है। जिसकी भी सरकार सत्ता पर होती है संगठन के कर्मचारी उसी के कर्मचारी कहलाते हैं। उन्होंने कहा कि हम शासकीय सेवक हैं। हमारे लिए शासन एवं प्रशासन की नियमावली एवं निर्देशों का पालन करना हमारा दायित्व है और हम शिक्षक पूरी ईमानदारी से उसका पालन करते हैं।

यह रहे उपस्थित 

बैठक में मंडला जिलाध्यक्ष संतोष सोनी जिला उपाध्यक्ष सतीश मिश्रा  सिवनी जिलाध्यक्ष कपिल बघेल , उमरिया जिलाध्यक्ष पवन चतुर्वेदी,सीधी जिलाध्यक्ष हरीश मिश्र, सागर जिलाध्यक्ष राकेश राजपूत छिंदवाड़ा जिलाध्यक्ष अनिल शर्मा,शहडोल जिलाध्यक्ष अनिल पटेल, कटनी जिलाध्यक्ष रामशंकर तिवारी, अशोकनगर  भीमसिंह यादव,अनुपपुर से विश्वराज शुक्ला,  डिंडोरी  देवेंद्र दीक्षित,, ,बालाघाट जिलाध्यक्ष आशीष बिसेन,जबलपुर जिलाध्यक्ष शिवकुमार चौबे,रीवा संभागीय अध्यक्ष रमेश प्रताप सिंह ,सागर संभागीय अध्यक्ष धर्मेन्द्र दुबे ने प्रांताध्यक्ष के समक्ष अपनी बातें रखी आज की बैठक में जिलाध्यक्षो के साथ कुछ प्रांतीय पदाधिकारी भी उपस्थित रहे ब्रजभान गोतम, पांडेय जी,सतीश मिश्रा, सुनील दुबे ,राजकुमार बैरागी ,डी के विश्वकर्मा,दीना नाथ चौधरी,मधुदीप उपाध्याय ,संतोष मेहरा , भाटी , धनंजय सोनवाने  इत्यादि उपस्थित रहे ।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here