ज्योतिरादित्य सिंधिया पर फूल बरसाने वालीं महिला कर्मचारी जांच की जद में | MP NEWS
       
        Loading...    
   

ज्योतिरादित्य सिंधिया पर फूल बरसाने वालीं महिला कर्मचारी जांच की जद में | MP NEWS

भोपाल। ज्योतिरादित्य सिंधिया पर फूल बरसाने वालीं सभी महिला कर्मचारी जांच की जद में आ गई है। टीकमगढ़ कलेक्टर ने महिला बाल विकास विभाग की उन सभी महिला कर्मचारी और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के खिलाफ जांच की बात कही है जिन्होंने पिछले दिनों एक प्राइवेट कार्यक्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया पर फूल बरसाए थे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को टीकमगढ़ प्रवास पर थे। इस दौरान वह एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने टीकमगढ़ के मामौन दरवाजा पहुंचे। कार्यक्रम में कतारबद्ध खड़ी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने उनके ऊपर फूलों की बारिश की। बस यही से विवाद शुरू हो गया। 

कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा: सिंधिया पर फूलों की बारिश मामले की जांच कराएंगे

इस मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी डीके दीक्षित का कहना है कि कार्यकर्ता और सहायिका निजी कार्यक्रम में फूलों की बारिश नहीं कर सकती यह नियम में नहीं है। वहीं कलेक्टर हर्षिका सिंह ने बताया कि अगर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने फूलों की बारिश की है तो यह नियम विरूद्ध है। मामले को जांच में लेंगे। 

जांच से पहले हमें कर्मचारी का दर्जा तो दे दें: महासंघ

इस संबंध में मप्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका एवं मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता महासंघ की प्रदेश महामंत्री संगीता श्रीवास्तव का कहना है कि हम लोग अपने विभाग की मंत्री इमरती देवी को ज्ञापन देने गए थे, लेकिन कैबिनेट मंत्री इमरती देवी पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ दिखीं। रहा फूलों की बारिश का सवाल तो अभी मप्र सरकार ने हम लोगों को सरकारी तंत्र थोड़ी माना है।