Loading...

बुध ग्रह का कुंभ में गोचर: पढ़िए आपका जीवन कितना प्रभावित होगा | बुध-कुंभ गोचर का राशिफल 2020

ज्योतिष विज्ञान में बुध ग्रह को बुद्धि का दाता बताया गया है। यानी ब्रह्मांड में यह एक ऐसा ग्रह है जो मनुष्यों की बुद्धि पर प्रभाव डालता है। बुद्धि किसी भी मनुष्य के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है। यदि व्यक्ति बुद्धिमान है और उसके पास ज्ञानू थोड़ा कम है तब भी सफलता सुनिश्चित है परंतु यदि व्यक्ति सिर्फ ज्ञानवान है लेकिन बुद्धिमान नहीं है तो सफलता उसके नजदीक भी नजर नहीं आई। यानी सफलता के लिए बुद्धि अनिवार्य है। बुद्धि के देवता 31 जनवरी को मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश कर गए हैं। दिनांक 7 अप्रैल 2020 तक बुध ग्रह कुंभ राशि में गोचर करेंगे। आइए जानते हैं इस दौरान सभी 12 राशियों पर बुध ग्रह का क्या प्रभाव पड़ेगा:

मेष राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

मेष राशि के जातकों के लिए बुध तीसरे और छठे भाव के स्वामी बनते हैं, जो कि काल पुरुष की कुंडली के भाव भी हैं. कुंभ राशि में प्रवास के दौरान यह आपके लाभ स्थान में गोचर करेंगे. इस स्थान से आपके लाभ, महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति और विभिन्न प्रकार की उपलब्धियों का पता लगाया जाता है. बुध के इस गोचर से आपकी क्षमताओं में बढ़ोतरी होगी और आपकी कार्य कुशलता बढ़ेगी. आप अपने प्रयासों से अपनी इनकम को बढ़ाएंगे और आमदनी के मामले में यह गोचर आपके लिए काफी अनुकूल साबित होगा. मेष राशि के लोगों को प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी. शिक्षा के मामले में आपको अनुकूल परिणाम मिलेंगे और आप नई चीजें सीख पाएंगे. आपने कहीं लोन के लिए आवेदन किया है, तो उसमें आपको सफलता मिलेगी, जिससे आपके रुके हुए काम भी बनने लगेंगे. इस समयावधि में आपकी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति होने से आपका मन प्रसन्न रहेगा.

वृषभ राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

आपकी राशि के स्वामी शुक्र के परम मित्र बुध का गोचर आपकी राशि से दशम भाव में होगा, जिससे कर्म और व्यवसाय की जानकारी मिलती है. बुध का गोचर आपके कार्यक्षेत्र में उन्नति लाने वाला साबित होगा. आप अपने ज्ञान और बुद्धि के बल पर अपने कार्य में श्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे, जिसका आपको समुचित लाभ भी प्राप्त होगा. आपने जो विद्या अर्जित की है, उसका प्रयोग करके आप अपने काम को और भी बेहतर तरीके से निपटा पाएंगे. वृषभ राशि के जो लोग व्यवसाय करते हैं, उन लोगों का बिजनेस और बढ़ेगा. इस दौरान आपका पारिवारिक जीवन भी काफी खुशनुमा रहेगा. आपका मन आपके काम से हट सकता है, जिसकी वजह से कामों में गलती होने की संभावना भी बढ़ेगी और आपको नौकरी बदलने का अवसर भी ढूंढना पड़ सकता है. 10 मार्च के बाद स्थितियां अच्छी हो जाएंगी और आप अपने काम में माहिर हो जाएंगे.

मिथुन राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

आपकी राशि का स्वामी होने के कारण बुध का गोचर काफी महत्वपूर्ण हो जाता है. बुध का गोचर आपके लिए काफी अनुकूल रहेगा. इस दौरान भाग्य का आपको पूरा साथ मिलेगा और प्रॉपर्टी के मामलों में आपको अत्यंत लाभ होगा. कुछ लोगों को घर बदलने में इस दौरान सफलता मिलेगी और आपके मान सम्मान में भी बढ़ोतरी होगी. मिथुन राशि वालों को फरवरी से मार्च के मध्य बुध के वक्री होने के दौरान यात्राओं में थोड़ी सावधानी बरतनी होगी. किसी कार्य को एक से अधिक बार करना पड़ सकता है, जिससे आपका परिश्रम बढ़ेगा. यदि आप सही राह पर चलेंगे तो तो यह समय आपकी तरक्की को कई गुना बढ़ा देगा. हालांकि यह अल्प काल के लिये ही रहेगा और मार्च के बाद से स्थिति फिर बेहतर हो जाएगी.

कर्क राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

बुध गोचर के दौरान कर्क राशि के लोगों के लिए समय कठिन हो जाएगा और आपकी मेहनत काफी बढ़ जाएगी. तमाम कोशिशों के बाद भी आपको सफलता नहीं मिलेगी. इस दौरान खर्चों में बढ़ोतरी और अवांछनीय यात्राएं आपको परेशान कर सकती हैं. इसके अतिरिक्त आपके भाई बहनों को भी किसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. ससुराल पक्ष के लोगों से सहायता मिलेगी. कर्क राशि के लोगों को 17 फरवरी से 10 मार्च के बीच स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहना होगा. स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं आपका काफी धन भी खर्च करवा सकती हैं. हालांकि इस अवधि के निकल जाने के बाद आपको राहत महसूस होगी और आंशिक तौर पर धन लाभ भी होगा. फिर भी आपको इस दशा अवधि में अपने क्रियाकलापों पर ध्यान देना चाहिए.

सिंह राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

बुध सिंह राशि के दूसरे और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं. यह दोनों ही भाव धन भाव कहलाते हैं, इसलिए बुध का गोचर आपके लिए काफी खास मायने रखता है. इस गोचर का अच्छा प्रभाव आपके दांपत्य जीवन पर भी पड़ेगा जिसकी वजह से साथी और आपके बीच नजदीकियां बढ़ेंगीं. आप एक-दूसरे से खुलकर अपने मन की बातें शेयर करेंगे, जिससे आपके बीच की दूरियां कम होंगी. सिंह राशि के लोगों को इस गोचर से व्यापार में जबरदस्त लाभ होगा और नई कार्य योजनाएं आपके काम को आगे बढ़ाएंगी. फरवरी से मार्च के मध्य में जब बुध वक्री अवस्था में होगा उस दौरान आपको दांपत्य जीवन में किसी भी प्रकार की व्यर्थ बहस बाजी और लड़ाई झगड़े से बचना होगा क्योंकि वह स्थिति आपको खासा परेशान कर सकती है. हालांकि 10 मार्च के बाद स्थितियां बेहतर होने लगेंगी.

कन्या राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

बुध देव आपकी राशि के स्वामी हैं और इसके साथ-साथ आपके दसवें भाव पर भी आधिपत्य रखते हैं. बुध का गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है. आपके खर्चों में बढ़ोतरी होगी और आपका स्वास्थ्य भी पीड़ित होगा. आपको विशेष तौर पर इस दौरान अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए. वहीं जॉब में आपको अनुकूल परिणाम मिलेंगे और आपकी मेहनत रंग लाएगी. कन्या राशि वालों को 17 फरवरी से 10 मार्च के बीच स्वास्थ्य पर ध्यान देने की ज्यादा जरूरत होगी. आवश्यक होने पर डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें और अपने खर्चों पर भी नियंत्रण रखें. इस अवधि के बीत जाने के बाद आपको राहत की सांस मिलेगी और कार्यक्षेत्र की स्थितियां आपको सुख प्रदान करेंगी.

तुला राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

तुला राशि के स्वामी शुक्र के साथ बुध की खासी मित्रता है. बुध के गोचर से आप की शिक्षा प्रभावित होगी और आपको उच्च शिक्षा से संबंधित बेहतरीन नतीजे मिलेंगे. यदि आप लेखन, अभिनय, जर्नलिज्म, पत्रकारिता, आदि से संबंध रखते हैं या कोई फाइनेंस या कॉमर्स की पढ़ाई कर रहे हैं, तो यह गोचर आपको काफी अच्छे लाभ प्रदान करेगा. जो लोग नौकरी करते हैं, उन्हें इस दौरान स्थानांतरण का समाचार मिल सकता है. तुला राशि वालों का लव रिलेशनशिप मजबूत होगा. दूर की यात्राएं आपके लिए लाभ का सौदा साबित होंगी. फरवरी से मार्च के मध्य में बुध वक्री होने की स्थिति में आपको लाभ प्राप्त होगा और इनकम बढ़ेगी. जो छात्र विदेश जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं, उन्हें उच्च शिक्षा में अच्छे नतीजे मिलेंगे. 10 मार्च के बाद जब बुध वक्री अवस्था से बाहर आएगा, तो इस राशि के लोगों को नौकरी बदलने में भी सफलता मिलेगी.

वृश्चिक राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

वृश्चिक राशि के लोगों के लिए बुध देव आठवें और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं. बुध के इस भाव में गोचर करने से आपके सुख साधनों में बढ़ोतरी होगी. आप संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करेंगे और उनसे सुख उठाएंगे. इस दौरान आपका सोशल सर्किल काफी मजबूत बनेगा और आपके पारिवारिक जीवन में भी अनेक प्रकार के आश्चर्यजनक सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे. केवल इतना ही नहीं, आपके कार्यक्षेत्र में भी आपको अच्छा लाभ मिलेगा. वृश्चिक राशि  वालों को फरवरी से मार्च के मध्य परिवार की घरेलू आवश्यकताओं पर अधिक ध्यान देना होगा और आपके खर्च भी काफी होंगे. इस दौरान पारिवारिक जीवन का असर आपके काम पर विशेष रूप से पड़ेगा, इसलिए आपको काम पर फोकस भी करना पड़ेगा. 10 मार्च के बाद स्थितियां काफी अनुकूल हो जाएंगी और आपको बेहतर नतीजे मिलेंगे.

धनु राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

धनु राशि के जातकों के लिए बुध गोचर काफी अच्छे परिणाम लेकर आया है. आप सुख-सुविधा और आनंद से भरी यात्राएं करेंगे. अपने घर के छोटे भाई बहनों से आपके संबंध बेहतर बनेंगे और आपके कार्यों में आपके मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा. आपकी कम्युनिकेशन स्किल बेहतर बनेगी और उसके सहारे आप बहुत अच्छा प्रदर्शन अपने काम में कर पाएंगे. धनु राशि वालों को बुध के वक्री होने की अवधि में थोड़ा सावधान रहना होगा. इस दौरान आपकी कम्युनिकेशन गलत तरीके से जा सकती है या अपने बात को समझाने में आपको दिक्कतें आ सकती हैं, जिससे आपके कामों में रुकावट और वाद विवाद की समस्या आ सकती है. इस दौरान आपके भाई बहनों का स्वास्थ्य भी खराब हो सकता है.

मकर राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

मकर राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके छठे भाव के स्वामी होने के साथ-साथ आपके भाग्य भाव के स्वामी भी हैं. आपको आर्थिक तौर पर काफी लाभ होंगे और आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर बनेगी. भाग्य का आपको पूरा साथ मिलेगा, जिससे आपके अटके हुए काम भी बनेंगे और आप यात्राओं से भी धन अर्जित करेंगे. मकर राशि के जो लोग प्रतियोगी परीक्षा में बैठ रहे हैं, उनके लिए भी समय अनुकूल रहेगा और उन्हें सफलता मिलने की काफी संभावना बढ़ जाएगी. 17 फरवरी से 10 मार्च के बीच आपको अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना होगा. आपको त्वचा रोग, वाणी में दिक्कत, गले की खराश जैसी समस्या से परेशान हो सकते हैं.  कोई पुराना लोन या कर्ज चल रहा है, तो उससे भी आपको इस दौरान निजात मिल जाएगी.

कुंभ राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

बुध का यह गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपकी ही राशि में हुआ है. राजयोग की स्थिति बनेगी और आपका मन आध्यात्मिक विषयों की ओर झुकेगा. आपकी बुद्धि का विकास होगा और आपकी समझ और मजबूत होगी. आप के निर्णय आपकी प्रगति का आधार बनेंगे, लेकिन इस दौरान आपका स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है जिसकी वजह से तनाव में आ सकते हैं. कुंभ राशि के जो लोग किसी प्रेम संबंध में हैं, तो उन्हें साथी का पूरा सहयोग मिलेगा. बुध वक्री की अवस्था में आपको स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना होगा और कोई भी निर्णय लेने से बचना होगा. इस दौरान आपको आर्थिक हानि होने की संभावना बढ़ जाएगी, लेकिन 10 मार्च के बाद स्थितियां एक बार फिर से बेहतर होने लगेंगी. यदि आप व्यापार करते हैं, तो उसमें भी स्थितियां आपके पक्ष में रहेंगी. 

मीन राशि के लोगों पर बुध ग्रह के कुंभ राशि में गोचर का प्रभाव

बुध देव के प्रभाव मीन राशि वालों को खर्चों का सामना करना पड़ेगा. आपके खर्चे काफी बढ़ेंगे, जिसका असर आपकी जेब पर पड़ेगा, इसलिए आर्थिक स्थिति थोड़ी सी हिल सकती है. इस दौरान कुछ लोगों को विदेश जाने में सफलता मिलेगी और घर से बाहर प्रॉपर्टी बनाने की दिशा में भी उन्हें सफलता मिल सकती है. जीवनसाथी से संबंधों में तनाव देखने को मिलेगा, जिस पर आप को ध्यान देना चाहिए. मीन राशि वालों को अधिक परिश्रम करना होगा. खर्चों पर नियंत्रण रखें, धीरे-धीरे आर्थिक रूप से भी स्थिति सुधरने लगेगी. इस गोचर में आपको सबसे ज्यादा अपने आप पर ध्यान देना होगा. कोई प्रॉपर्टी लेने की सोच रहे हैं तो उसमें सफलता मिल सकती है.