उद्योगपतियों के दो रईसजादे: 182 लड़कियों का वीडियो बनाया, ब्लैकमेल करते थे | CRIME NEWS
       
        Loading...    
   

उद्योगपतियों के दो रईसजादे: 182 लड़कियों का वीडियो बनाया, ब्लैकमेल करते थे | CRIME NEWS

नई दिल्ली। ब्लैकमेल किया फिरौती मांगने जैसा अपराध ज्यादातर वह लोग करते हैं जिनके पास ऐसा नहीं होता और महत्वाकांक्षा काफी बड़ी होती है लेकिन पश्चिम बंगाल में दो ऐसे युवकों को गिरफ्तार किया गया है जो देश के प्रतिष्ठित कारोबारी घरानों से है। दोनों के पास से 182 लड़कियों के आपत्तिजनक वीडियो मिले हैं। इन्हीं वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर दोनों दोस्त लड़कियों को ब्लैकमेल करते थे। 

पुलिस ने 3 महीने लंबी जांच के बाद दोनों को गिरफ्तार किया

पुलिस के मुताबिक, ये लोग पिछले कई वर्षों से यह रैकेट चला रहे थे। इनके कब्जे से 182 महिलाओं की सेक्स क्लिप्स बरामद हुई हैं। तीन महीने तक चली जांच के बाद पुलिस ने आदित्य अग्रवाल और अनीश लोहारुका को गिरफ्तार किया है। दोनों की उम्र 20 साल के आसपास ही है। साथ ही इनके नौकर कैलाश यादव को भी गिरफ्तार किया गया है।

देश के प्रतिष्ठित कारोबारी परिवारों से हैं आदित्य अग्रवाल और अनीश लोहारुका

आदित्य अग्रवाल का परिवार एक मशहूर एथनिक कपड़ों के ब्रैंड का मालिक है जबकि अनीश लोहारुका का परिवार रियल एस्टेट के बिजनस में है और उनके कई होटल हैं। तीनों आरोपियों को 4 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेजा गया है। एक महिला ने इन पर ब्लैकमेल करने और 10 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया था। लोहारुका परिवार के एक सदस्य ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि अनीश को इस केस में फंसाया गया है। अग्रवाल परिवार की ओर से किसी ने कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर दिया। कोलकाता पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) ने इन दोनों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

लैपटॉप से मिले 182 फोल्डर, हर फोल्डर में एक क्लिप

पुलिस ने अनीश का एक लैपटॉप भी सीज किया है। एक अधिकारी के मुताबिक, अनीश के लैपटॉप में 182 फोल्डर मिले। हर एक फोल्डर में एक महिला के साथ 'सेक्स क्लिप' है। पुलिस के मुताबिक, लैपटॉप में बरामद क्लिप्स साल 2013 तक पुरानी हैं। लैपटॉप को फरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।

घरेलू नौकर को वसूली के लिए साथ में रखा

पुलिस ने बताया कि ये लोग महिलाओं से दोस्ती करते और उनके साथ शारीरिक संबंध बनाते थे। पिछले साल इन्होंने कैलाश को भी अपने साथ शामिल कर लिया, जो लोहारुका परिवार का घरेलू नौकर है। कैलाश को महिलाओं को धमकाने और फिरौती न देने पर विडियो वायरल करने की धमकी देने के लिए रखा गया था।

दोस्ती कर महिलाओं से बनाते थे शारीरिक संबंध

जांच में शामिल एक अधिकारी ने बताया, 'दोनों मुख्य आरोपियों (आदित्य और अनीश) ने कबूल किया है कि ये लोग पहले अलग-अलग महिलाओं से दोस्ती करते और फिर उन्हें अलग-अलग जगहों पर बुलाते। यहां पहले से कई कैमरे लगे होते थे, जिसमें इनके निजी पलों को रिकॉर्ड कर लिया जाता था। इन्होंने पिछले करीब एक साल से महिलाओं से फिरौती मांगने का धंधा शुरू किया। इन्होंने एक लड़की से 5 लाख रुपये फिरौती मांगी, जो उसने दे दी। हालांकि इसके बाद इन्होंने 10 लाख रुपये और मांगे जिसके बाद उसने साइबर सेल में शिकायत कर दी।'

नौकर ने उगल दिया सारा सच

पुलिस ने कैलाश को अपने रेडार पर लिया। कैलाश और लड़की के बीच कई कॉल्स और वॉट्सऐप मेसेज को ट्रेस किया। अधिकारी ने बताया, 'हमने उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने सब उगल दिया, जिसके बाद मामले के मुख्य आरोपियों को भी अरेस्ट कर लिया गया। इनकी शिकार कई महिलाएं रही हैं, हम हर शिकायत की अलग-अलग जांच करेंगे।'