Loading...

फरार बाबा नित्यानंद ने अपना देश बसाया, नाम रखा कैलासा- हिंदू राष्ट्र, पुलिस पासपोर्ट लिए बैठी रह गई | NITYANAD KAILASA

नई दिल्ली। दुनिया में एक नए हिंदू राष्ट्र का उदय हुआ है लेकिन यह जिस तरह होगा शायद किसी को भी नहीं पता था। दक्षिण भारत में नाबालिग लड़कियों को बंधक बनाकर प्रताड़ित करने का आरोपी नित्यानंद देश छोड़कर फरार हो गया था। अब खबर आ रही है कि उसने एक द्वीप खरीद कर उसे नए देश में परिवर्तित कर दिया है। नित्यानंद ने अपने देश का नाम 'कैलासा- हिंदू राष्ट्र' रखा है। 

बेंगलुरु में फरार बाबा नित्यानंद का बिदादी आश्रम अब लगभग खाली हो गया है और आश्रम का दैनिक कामकाज देखने वाले प्रमुख लोग भी लापता हैं। पता चला है कि नित्यानंद ने इक्वाडोर के नजदीक एक द्वीप पर हिंदू राष्ट्र 'कैलासा' का निर्माण किया है जिसका अपना ध्वज और राजनीतिक व्यवस्था है। यानी अब नित्यानंद देश का राष्ट्रपिता है और शायद राष्ट्रपति भी।

बिदादी आश्रम में ही 2010 में नित्यानंद का पहला स्कैंडल सामने आया था। आपत्तिजनक हालत में एक अभिनेत्री के साथ उनका एक वीडियो वायरल हुआ था और उसके बाद वह करीब आठ साल तक अज्ञातवास में रहे। एक साल पहले वह नए अवतार में सामने आए थे। मैरून रंग और बाघ की खाल की मिलीजुली वेषभूषा में वह चेहरे पर दाढ़ी और मूछों के साथ सामने आए थे। उनके हाथ में त्रिशूल और गले में मनके की माला थी। 

अहमदाबाद स्थित 'योगिनी सर्वज्ञपीठम' आश्रम से दो लड़कियों के लापता होने के बाद पिछले महीने नित्यानंद के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज की गई थी। उन पर अपहरण और चंदा वसूलने के लिए बच्चों को गलत तरीके से बंधक बनाकर रखने के आरोप लगाए गए थे। पुलिस नित्यानंद की तलाश कर ही रही है, इस बीच खबरें मिली हैं कि उन्होंने एक द्वीप पर हिंदू राष्ट्र 'कैलासा' का निर्माण किया है। 

कैलासा की वेबसाइट के मुताबिक, इस सीमा विहीन राष्ट्र का निर्माण दुनियाभर के बेदखल हो चुके ऐसे हिंदुओं ने किया है जिन्हें अपने-अपने देशों में हिंदू धर्म के पालन का अधिकार नहीं है। वेबसाइट के मुताबिक, 'कैलासा का निर्माण सिर्फ सनातन हिंदू धर्म की रक्षा, संरक्षण और पूरे विश्व के साथ साझा करने के मकसद से ही नहीं बल्कि जुल्मों की उन कहानियों को साझा करने के लिए भी किया गया है जिनसे दुनिया अभी तक अंजान है।'