ग्वालियर में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग के बाहर लगी 'बेटी की पेटी" | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। बेटियों की सुरक्षा के लिए ग्वालियर पुलिस ने 40 ऐसे पॉइंट पर बेटी की पेटी लगाई, जहां स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान हैं। इन पेटियों में छात्रा, युवतियां अपनी शिकायत बिना नाम और पहचान बताए लिखकर डाल सकती हैं। शनिवार को पहली बार बेटी की पेटी खोली गईं, लेकिन सिर्फ 2 शिकायत मिलीं। एक शिकायत कंपू और दूसरी शिकायत मुरार में मिली, जिसमें किसी छात्रा ने पान, गुटखे की गुमटियों पर इकठ्ठे होकर परेशान करने वाले मनचलों की शिकायत की गई।

इसके पीछे कारण यह है कि पुलिस ने बेटी की पेटी जगह-जगह लगा तो दी लेकिन प्रचार-प्रसार न होने की वजह से छात्राओं को इस बारे में जानकारी ही नहीं है। ग्वालियर पुलिस ने 17 दिसंबर को बेटी की पेटी लगाने की शुरुआत की। 18 दिसंबर तक शहर के 40 पॉइंट पर बेटी की पेटी लगा दी गई। बेटी की पेटी स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों के पास ही लगाई गईं। इसकी वजह थी कि यहां पढ़ने आने वाली छात्राओं को अक्सर मनचले परेशान करते हैं। स्कूल, कॉलेज और कोचिंग के आसपास मनचले खड़े रहते हैं। इसके साथ ही छात्राओं को और भी कोई परेशानी हो, जिसकी जानकारी वह सीधे न देना चाहें तो इस पेटी में एक पर्ची पर लिखकर डाल दें। इसके बाद सप्ताह में एक दिन यह पेटी खोलकर पुलिस शिकायत पर एक्शन लेती।

बेटी की पेटी का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। शैक्षणिक संस्थानों में स्टाफ जाकर इसके बारे में बताएगा। बैनर-पोस्टर भी लगाए जाएंगे, जिससे अधिक से अधिक लोगों को पता लग सके। -नवनीत भसीन, एसपी

कहां - कहां लगी बेटी की पेटी

पड़ाव - 8, कंपू-8, थाटीपुर- 8, माधौगंज-8, प्रेस्टीज कॉलेज-1, गर्ल्स कॉलेज मुरार -1, गर्ल्स स्कूल मुरार -1, एमिटी यूनिवर्सिटी-1, आईएचएम, महाराजपुरा -1, रायसिंह का बाग-3, शनिवार को पहली बार बेटी की पेटी खोली गईं। इसमें एक शिकायत केआरजी के पास लगी पेटी में मिली। इसमें गुटखा, सिगरेट के ठेले पर खड़े होने वाले युवकों की शिकायत की गई। दूसरी शिकायत मुरार के वीआरजी कॉलेज के पास आई। यहां भी इसी तरह की शिकायत आई।