Loading...

ग्वालियर में ठंड का कर्फ्यू, लोग जरूरी काम से ही निकले बाहर | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। महानगर में गुरुवार को बर्फीली हवाएं और कोहरे के साथ हुईन्यूनतम तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस गिरावट आने की वजह से सर्दी में इजाफा हुआ। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि इस सप्ताह पारा और गिरेगा। कड़ाके की ठंड पड़ेगी। इस सप्ताह लगातार न्यूनतम तापमान में गिरावट आती जा रही है।  मंगलवार को घटकर नौ डिग्री पर पहुंच गया। बुधवार को इसमें तीन डिग्री की और गिरावट आई और न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। 

मौसम विभाग ने आगे के दिनों में कड़ाके की सर्दी पडऩे की संभावना जताई है। शुक्रवार को न्यूनतम पारा चार डिग्री सेल्सियस पर पहुंच सकता है। गुरुवार सुबह से ही चल रही शीतलहर ने लोगों का सर्दी से बुरा हाल कर लिया। तेज चुभने वाली हवाओं ने लोगों को ज्यादा गर्म कपड़े पहनने को विवश कर दिया, लेकिन उनके यह उपाय सर्दी बचाने में फेल साबित हुए। 

महानगर के सबसे व्यस्त चौराहों में शुमार गोले का मंदिर, फूलबाग, पड़ाव, मुरार सात नंबर चौराहा समेत अन्य मुख्य आवागमन के रास्तों पर सुबह चार बजे धुंध की परत छाई रही। वाहन चालकों ने देर सुबह तक अपने वाहनों की हेड लाइट जलाई, ताकि रास्ता दिख सके। 

इधर सबसे ज्यादा परेशानी वाहन चालकों को हो रही है। इसमें से दो पहिया चालकों का तो बुरा हाल है। सिर से लेकर पैर तक वे गर्म कपड़े का प्रयोग कर रहे हैं, इसके बाद भी तेज हवा उनके कान में प्रवेश कर पूरे शरीर में प्रवेश कर ठंड का एहसास करा रही है। 

जयारोग्य अस्पताल और जिला अस्पताल में ठंड लगने की वजह से पिछले कई दिनों से अधिक मरीज भर्ती हो रहे हैं। डॉक्टरों ने बताया कि मरीजों को निमोनिया हो गया है। कुछ का बीपी व ह्रदय गति भी कम है। इनमें से कुछ मरीजों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। डॉक्टरों ने लोगों को गर्म कपड़े पहनने की सलाह दी है। साथ ही, सुबह तडक़े सैर पर न निकलने और रात में बिना वजह बाहर नहीं निकलने की सलाह दी है।