Loading...

नागरिकता कानून का समर्थन कर रहे ABVP के 50 छात्र गिरफ्तार | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा फूलबाग चौराहे पर धरना देने व रैली निकालने के ऐलान चलते शहर में धारा 144 लगी हुई है जिसके चलते किसी भी प्रकार का प्रदर्शन या फिर रैली का आयोजन नहीं किया जा सकता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आयोजित धरने को देखते हुए सुबह से ही फूलबाग चौराहे पर भारी पुसिल बल तैनात था और अफसर निगरानी कर रहे थे।

नागरिकता कानून के समर्थन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के आव्हान पर रैली निकाल छात्रों को गिरफ्तार करने के लिये वहीं, दूसरी और शुक्रवार को उसी समय मोती मस्जिद से नमाज अदा करने निकलने वालों की इस बात को लेकर पुलिस बेहद सतर्क थी कि यह दोनों आमने-सामने न आने पाये। फिलहाल संकट टल गया। 3 बजे एबीवीपी के छात्रों ने वीरांगना लक्ष्मीबाई समाधि से रैली निकाल कर फूलबाग चौराहा पर दो हिस्सों में गिरफ्तारी दी। एबीवीपी के छात्र रैली के रूप में लक्ष्मीबाई समाधि से फूलबाग चौराहा की ओर आ रहे थे तो थाना जनकगंज थाना प्रभारी प्रीती भार्गव अपनी टीम के साथ पुलिस फूलबाग चौराहा से पहले बस लेकर तैयार थी। उन्हें फूलबाग चौराहा से पहले पकड़-पकड़ कर बस में बैठाकर डीआरपी लाईन के लिये भेज दिया गया। 

यह गिरफ्तारी एबीवीपी के छात्र नेता गौरव मिश्रा में नेतृत्व लगभग 50 छात्रों ने दी। फूलबाग चौराहा पर सिटी मजिस्ट्रैट सीबी प्रसाद ओर रामनिवास सिकरबार, आरआई महेश ओझा सहित अपनी टीम के साथ मौजूद थे, पुलिस की ओर से इंटेलीजेंस एसपी योगेश्वर शर्मा, एएसपी सत्येन्द्र सिंह तोमर, पंकज पांडे, सीएसपी रवि भदौरिया, डीएसपी विजय भदौरिया, टीआई महेश शर्मा, टीआई महाराजपुरा, अजय पंवार, टीआई इन्दरगंज दीप सेंगर टीआई जनकगंज प्रीती भार्गव, टीआई क्राइम ब्रांच दामोदर गुप्ता, एसआई सुरूचि शिवहरे आदि 2वीं बटालियन की क्यूआरएफ पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद रही।

गिरफ्तार छात्रों के लिये अस्थाई जेल

फूलबाग चौराहा से गिरफ्तार किये गये एबीवीपी के 50 छात्रों के डीआरपी लाईन में अस्थाई जेल बनाई गयी है। स्थितियां अनुकूल रहीं तो इन्हें वहीं से रिहा कर दिया जायेगाऔर नहीं रही तो जेल भेज दिया जायेगा।