Loading...

ओरछा तीर्थ स्थल बनेगा, महल, किला, मंदिर, घाट सबको संवारा जाएगा, गंगा की तरह बेतवा आरती होगी | ORCHHA

ओरछा। मप्र सरकार ने विजन डॉक्यूमेंट तैयार कर करीब 10 करोड़ की लागत से पर्यटन नगरी ओरछा के विकास के लिए योजना बनाई है। श्रीरामराजा सरकार के दरबार को संवारने के अलावा नवगठित निवाड़ी जिले के आगे ओरछा नाम को जोड़ने का प्रस्ताव किया गया है। 

इंटरनेशनल स्तर पर ब्रांडिंग होगी

भोपाल से आई संस्कृति विभाग की टीम ने अपने प्लान का प्रजेंटेशन शनिवार को आबकारी मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर के समक्ष पेश किया। इसके तहत ओरछा के राजा महल, किले, शीश महल, चतुर्भुज मंदिर, बेतवा नदी घाटों का मुख्य रूप से विकास करने की योजना है। इसके अलावा अन्य तीर्थों में होने वाली गंगा आरती की तरह अब बेतवा की भी आरती होगी। मार्च 2020 में ओरछा महोत्सव का आयोजन किया जाना है, जिसकी सरकार इंटरनेशनल स्तर पर ब्रांडिंग करेगी। 

रामराजा सरकार का दरबार सजाया जाएगा

सरकार की तैयारी है कि रामराजा सरकार मंदिर को धार्मिक पर्यटन के रूप में विकसित किया जाए और अयोध्या के राम मंदिर निर्माण से पहले रामराजा सरकार दरबार को सजाया जाए। स्वच्छता और सड़कों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर का कहना है कि सीएम कमलनाथ ने श्रीरामराजा मंदिर के विकास का डॉक्यूमेंट तैयार करने का कहा है। सरकार कुछ अपने बजट से और कुछ मंदिर ट्रस्ट के साथ ही कार्पोरेट सोशल रिस्पांसबिलिटी यानी सीएसआर से करने का काम करेगी।

खजुराहो में डायमंड म्यूजियम व पन्ना में डायमंड पार्क बनेगा

छतरपुर। खजुराहो में होटल पायल के पास पर्यटन विभाग की जमीन पर मप्र का पहला डायमंड म्यूजियम और नीलामी केंद्र का निर्माण होगा। इसके लिए बजट खनिज विभाग की ओर से जारी किया जा रहा है। रविवार को खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल खजुराहाे के दाैरे पर अा रहे हैं। इस दाैरान वे मौके का निरीक्षण करेंगे। इसके साथ ही पन्ना के महेंद्र भवन में डायमंड पार्क के निर्माण की घोषणा भी की जाएगी। खनिज विभाग ने इन दोनों ही केंद्रों की स्थापना के लिए जमीनों का चिह्नांकन कर लिया है।