Loading...

रेल यात्री के घर में चोरी हो जाए तो IRCTC मुआवजा देगी, ट्रेन में चोरी हो तो कुछ नहीं मिलेगा

नई दिल्ली। सुनने में अजीब लगेगा लेकिन यदि आप तेजस एक्सप्रेस में सफर कर रहे हैं और इस दौरान आपके घर में चोरी हो जाती है तो आईआरसीटीसी की तरफ से आपको ₹100000 मिलेंगे। जी हां, आईआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस में सफर करने वाले हर यात्री के लिए एक विशेष प्रकार का बीमा करवा रही है। इसके लिए कोई अलग से प्रीमियम नहीं लिया जा रहा। इस सबके बीच मजेदार बात यह है कि यदि तेजस एक्सप्रेस में सफर के दौरान आपका वॉलेट, लगेज या कोई आभूषण चोरी हो जाए तो आईआरसीटीसी की तरफ से आपको कोई बीमा खबर नहीं मिलेगा।

IRCTC की ओर से रेल यात्री के घर के सामान का बीमा

IRCTC संचालित ट्रेन में सफर के दौरान अगर घर पे चोरी होती है तो IRCTC आपको 1 लाख रुपए तक का बीमा देगी। ये सुविधा निशुल्क है। आपको इस बीमा कवर के लिए लिए कोई प्रीमियम नही देना होगा। ये सुविधा फिलहाल सिर्फ लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस ट्रेन मुसाफिरों के लिए है। अगर घर पर चोरी होती है तो आपको FIR दर्ज करानी होगी और जांच में सही पाए जाने के बाद आपको बीमा राशि IRCTC देगी। सुविधा के लिए IRCTC ने Liberty general insurance company limited के साथ करार किया है। भविष्य में IRCTC अपने आने वाली प्राइवेट ऑपरेटेड ट्रेन में भी इसी तरह की सुविधा देने का मन बना रहा है। जनवरी 2020 में IRCTC मुम्बई-अहम्बदबाद रूट पर अगली तेजस ट्रेन चलाने जा रही है। 

सफर में यदि लगेज चोरी हो जाए तो कोई भी बीमा नहीं

मजेदार बात यह है कि तेजस एक्सप्रेस में सफर के दौरान आपके पास मौजूद समान या लगेज की अभी कोई INSURANCE या बीमा कवर नही है लेकिन चूंकि दिल्ली लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस ट्रेन यात्री सुविधाओं से लेकर सुरक्षा तक के पैमाने पर बेहद खास है, लिहाजा IRCTC का दावा है कि ट्रेन में चोरी की घटना लगभग नामुमकिन है। IRCTC के मुताबिक चूंकि तेजस एक्सप्रेस ट्रेन में आटोमेटिक दरवाज़े है लिहाजा कोई अनजान व्यक्ति के चढ़ने उतरने की संभावना कम है। इसके साथ ही पूरी ट्रेन में प्राइवेट सिक्युरिटी गार्ड भी तैनात हैं। सीसीटीवी कैमरा भी ट्रेन मे लगे हुए हैं। लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस ट्रेन देश की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन है।