Loading...

सिंधिया के खास कांग्रेस नेता और उनके बेटों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के नजदीक नजर आने वाले रसूखदार कांग्रेस नेता संजय शर्मा और उनके दो बेटों पर (Congress leader Sanjay Sharma and his two sons) ग्वालियर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज (Fraud case filed) किया है। संजय पर आरोप है कि उन्होंने प्लाट बेचने के नाम पर एक विकलांग सरकारी शिक्षक से करीबन 10 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है। इतना ही नहीं शिकायतकर्ता के थाने पहुचने की भनक लगते ही संजय पर थाने पहुंचकर फरियादी को अपने रसूख का रौब दिखाकर धमकाने का भी आरोप लगा है।

दरसअल गोला का मंदिर स्थित रणधीर कॉलोनी में रहने वाले शशिकांत पाराशर (Shashikant Parashar) विकलांग है और पेशे से सरकारी शिक्षक हैं। शशिकांत ने महलगांव में रहने वाले रसूखदार कांग्रेस नेता संजय शर्मा पर प्लाट बेचने के नाम पर लगभग दस लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है। फरियादी शशिकांत का कहना है 29 सितम्बर को जनसुनवाई में उन्होंने एसपी से शिकायत की थी कि अनुबंध के आधार संजय शर्मा ने उन्हें विवादित सरकारी जमीन बेच दी है। इसके लिए उन्होंने दस लाख रुपये की रकम में कुछ कैश दी है और कुछ का भुगतान चैक से किया है। कई दफा अपनी रकम वापस मांगने पर संजय उन्हें टहला रहे हैं। मजबूरन आज उन्होंने गोला का मंदिर थाने पहुंचकर आरोपी संजय और उनके दोनों बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई है।

वहीं शशिकांत के थाने पहुचने की भनक लगते ही संजय भी अपने रिश्तेदारों के साथ थाने पहुच गए। बकौल शशिकांत, संजय ने अपने रसूख का रौब दिखाकर मामला वापस लेने का भी दबाब बनाया, लेकिन तब तक प्रकरण दर्ज हो चुका था। उधर पुलिस ने संजय के खिलाफ पुख्ता प्रमाण मिलने के बाद ही मामला दर्ज किया है क्योंकि मामला कांग्रेस नेता से जुड़ा है और सत्ता में कांग्रेस है। लिहाजा पुलिस ने आरोपी कांग्रेस नेता संजय शर्मा और उसके दो बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है और विवेचना शुरू कर दी है। फिलहाल आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है और उसके रसूख के चलते फरियादी शिक्षक शशिकांत पाराशर भयभीत है।