Loading...

बंगाली स्वीट्स सील,नोटिस के बाद भी जमा नहीं किया डायवर्सन शुल्क | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। थाटीपुर क्षेत्र में बंगाली स्वीट्स (Bengali Sweets) के संचालक द्वारा 6 लाख रुपए डायवर्सन शुल्क जमा न करने पर शनिवार को तहसीलदार शिवानी पांडेय ने सील कर दिया। तहसीलदार का कहना है कि प्रतिष्ठान संचालक को पिछले सप्ताह नोटिस दिया गया था। इसके बाद भी शुल्क जमा करने को लेकर लापरवाही बरती गई तो वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर प्रतिष्ठान को सील कर दिया गया। इसके साथ ही संचालक को शुल्क जमा करने के लिए समय दिया गया है। अगर निर्धारित समय में डायवर्सन शुल्क जमा नहीं किया तो कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, कुछ समय पहले प्रदेश के पीएस राजस्व ने जिले में लगभग 60 करोड़ रुपए के राजस्व वसूली लक्ष्य में लगभग 3 करोड़ रुपए की ही वसूली होने पर नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने सभी अधिकारियों को बकायादारों की पूरी लिस्ट बनाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। वसूली की कार्रवाई मेंं उदासीनता बरतने पर स्वयं के वेतन सहित लगभग सभी अधिकारियों के वेतन पर रोक लगा दी थी। कलेक्टर ने निर्देश दिए थे कि जब तक वसूली का स्तर उल्लेखनीय नहीं होता है, तब तक वेतन जारी नहीं होगा। इसके बाद से आरआइ स्तर से आई प्रारंभिक रिपोर्ट में संस्थानों की सूची बनाकर शुल्क जमा कराने के नोटिस दिए गए थे। इसके सात दिन बीतने पर अब कार्रवाई शुरू की गई है।

राजौरिया फर्नीचर थाटीपुर, रॉयल इन होटल, सत्कार गेस्ट हाउस सिटी सेंटर, शांति मैरिज गार्डन, ग्रीन पैटल, नीलकमल रेस्टोरेंट एवं गार्डन केदारपुर, दून पब्लिक स्कूल नौगांव, सेवन आई वल्र्ड स्कूल नौगांव, आइटीएम कॉलेज, एनआरआइ कॉलेज, ड्रीमवेली कॉलेज सिथौली, पल्र्स वेली स्कूल, ईसीएस बैगलेस स्कूल बाराघाटा, तिली फैक्ट्री सालूपुरा आदि शामिल हैं। इनसे वसूली के लिए एसडीएम अनिल बनवारिया ने तहसीलदार को निर्देश दिए हैं। वसूली की राशि जमा न करने पर कुर्की की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।