Loading...

BHOPAL की सुन्दरता और हरियाली को ध्यान में रखकर तैयार हो मास्टर प्लान: विधायक सारंग

भोपाल। पूर्व सहकारिता मंत्री व नरेला विधायक विष्वास सारंग ने जिला पंचायत कार्यालय में आज आयोजित जिला योजना समिति की बैठक में मास्टर प्लान के संबंध में सुझाव देते हुए कहा कि भोपाल मास्टर प्लान समग्रता के साथ बनाया जाये। यह सुनिश्चित किया जाये कि भोपाल का मूल स्वरूप बरकरार रहे और विकास के नये आयाम जुडे़ रहें। प्रकृति द्वारा प्रदत्त सबसे बड़ा उपहार भोपाल तालाब और उसका कैचमेन्ट पूरी तरह से सुरक्षित रहे।

श्री सारंग ने कहा कि अभी भोपाल में 27 प्रतिशत हरियाली क्षेत्र है, जिसे कम से कम 35-40 प्रतिशत करने का प्रावधान किया जाये। मास्टर प्लान रोड़ के रूप में अभी चलती हुयी रोड़ और उपयोग की जा रही रोड़ को सम्मलित किया जाये। उन्होंने कहा कि अभी देखने को आता है कि मास्टर प्लान में नई रोड़ इंगित हो जाती है पर जमीन पर उनका निर्माण नहीं होता है। उपयोग की जा रही रोड़ को मास्टर प्लान का अंग बनाये जाने से समस्या का हल होगा।

विश्वास सारंग ने सुझाव देते हुए कहा कि नये मास्टर प्लान बनाने के पहले 2005 मास्टर प्लान की सही समीक्षा की जाये और उसमें दर्शाये सुझावों का अद्यतन स्थिति का आकलन हो। व्यवसाय और रोजगार को बढ़ावा देने के लिये मास्टर प्लान में समुचित छूट दी जाये। मास्टर प्लान के पूरे प्रस्ताव में प्रस्तावित मेट्रो एवं बी.आर.टी.एस. को ध्यान में रखते हुये प्रस्ताव तैयार किया जाये। भोपाल शहर में समुचित विकास के लिए मिक्सड् लैण्ड यूज़ का ज्यादा प्रावधान किया जाये। मास्टर प्लान में पर्यावरण की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाये।

श्री सारंग ने कहा कि मास्टर प्लान में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये  कि वाॅटर सप्लाई लाईन के अतिरिक्त डेªनेज एवं सीवेज सिस्टम को भी दर्शाया जाये। मास्टर प्लान में नये सिरे से शहर के रिंग रोड़ का प्रस्ताव शासन को भेजा जाये तथा तालाब किनारे भोज पथ/पाथ वे बनाया जाये।

विश्वास सारंग ने जिला योजना समिति की बैठक में अन्य सुझाव देते हुए कहा कि आयुष्मान भारत योजना में अभी शहर के 58 अस्पताल चिन्हित हैं, एक मुहिम चलाकर बांकी के अस्पतालों को भी इस योजना में सम्मलित किये जाने के प्रयास किया जायंे। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत अस्पतालों में सभी हितग्राहियों को समय पर लाभ मिल सके इसके लिए चिकित्सालयों में बीमारी वार खर्च राशि का बोर्ड लगाया जाये। हितग्राहियों के कार्ड बनाये जायें। इस योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये।

श्री सारंग ने कहा कि भोपाल जिले में नये सिरे से बी.पी.एल. सर्वे किया जाये एवं नये बीपीएल धारकों को भी इस योजना का लाभ मिले, इसके लिए जिला योजना समिति सरकार को प्रस्ताव बनाकर भेजे।

विश्वास सारंग ने कहा कि राजस्व विभाग की सेवा नामांतरण, सीमांकन, बंटवारा आदि को समय सीमा में निराकरण किये जाने हेतु लोक सेवा गारंटी अधिनियम का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये, जिससे आमजन लोेक सेवा केन्द्र के माध्यम से यह सेवायें प्राप्त कर सकें।

श्री सारंग ने कहा कि विस्थापित सिंधी समाज के लोगों को भारत की नागरिकता/मान्यता प्रदान की जाये और इसकी प्रक्रिया को सरलीकरण किया जाये।

विश्वास सारंग ने कहा कि अयोध्या मंदिर के मामले में माननीय सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय आने वाला है, सर्व सम्मति से जिला योजना समिति के माध्यम से इसका सम्मान किये जाने का प्रस्ताव पास हो एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने में सब सहयोग करें। इस बिन्दु का सभी सदस्यों ने अपनी सहमती देकर इस प्रस्ताव का स्वागत किया और कानून व्यवस्था बनाये रखने में अपना पूरा पूरा सहयोग देने का वायदा किया।