Loading...

शिक्षकों के लिए खुली नकल से पास होकर दिखाओ परीक्षा आज, फिर भी फेल हो गए तो VRS

भोपाल। हाईस्कूल में थोकबंद छात्रों के फेल होने के बाद मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे शिक्षकों की योग्यता को फिर से जांचने के लिए आयोजित की गई परीक्षा में शिक्षकों को किताब से नकल करने की खुली छूट दी गई थी फिर भी 20% शिक्षक पास नहीं हो पाए। उन्हे आज दूसरा मौका दिया जा रहा है। यदि इस बार भी फेल हो गए तो उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी जाएगी। याद दिला दें कि पिछले दिनों मंत्रालय में हुई एक बैठक में शिक्षकों को वीआरएस देने का फैसला हो चुका है। 

उल्लेखनीय है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा 10वीं में इस बार कई छात्र-छात्राएं गणित विषय में फेल हुए थे। इसके बाद विभाग ने परिणामों की पड़ताल कराई ताे पता चला कि कुछ संभागों में तो स्थिति काफी खराब रही। इसके चलते विभाग ने 30 फीसदी से कम रिजल्ट देने वाले सभी विषयाें के शिक्षकों की गत 12 जून को परीक्षा कराई। इसमें शिक्षकों ने विषय की पुस्तक से नकल कर पेपर दिया था। 

इसके बाद भी करीब साढ़े तीन हजार शिक्षकों में से 20% फेल हो गए थे। ये शिक्षक 32 फीसदी अंक भी नहीं ला पाए। ऐसे में उन्हें एक और मौका देते हुए विभाग ने 14 अक्टूबर काे दाेबारा परीक्षा अायाेजित की है। करीब डेढ़ माह पहले मंत्रालय में हुई स्कूल शिक्षा विभाग की बैठक में फेल हाेने वाले कुछ शिक्षकाें काे अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने का आदेश जारी हाे चुका है।