Loading...

ज्योतिरादित्य सिंधिया का मुस्लिम समाज को वचन: परवाह नहीं सरकार किसकी है, मैं आपकी आवाज बनूंगा | MP NEWS

भोपाल। मुख्य सचिव एसआर मोहंती की ग्वालियर विजिट के बाद भी पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के तेवर नर्म होते नजर नहीं आ रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने श्योपुर में कहा कि यदि सरकार आपकी बात नहीं सुनेगी तो मैं आपकी आवाज बन जाऊंगा और इसमें मैं सक्षम हूं।

भिंड में कर्ज माफी पर घेरा था

बता दें कि हाल ही में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम कमलनाथ को वचन निभाने में लापरवाही करने का आरोपी बताया था। सिंधिया ने कहा था कि हमने कर्ज माफ करने का वचन दिया था परंतु अब तक मात्र ₹50000 तक के कर्ज माफ किए गए हैं। उनके इस बयान के बाद सीएम कमलनाथ का जवाब भी आया था। कहा था कि जनता सब जानती है। कमलनाथ के जवाब की प्रतिक्रिया में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुरैना में कहा था कि खेल में राजनीति नहीं होनी चाहिए राजनीति में खेल होना चाहिए।


मुख्य सचिव खुद मिलने आए थे

इस तरह की बयानबाजी ने देश भर में सुर्खियां बटोरी। इसी दौरान सिंधिया स्कूल ग्वालियर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के बहाने मुख्य सचिव एसआर मोहंती खुद ग्वालियर आए और उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। परंतु इस मुलाकात के बाद भी सिंधिया के तेवर नरम होते नजर नहीं आ रहे हैं।


मुस्लिम समाज के कार्यक्रम में बयान दिया

ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश के श्योपुर के जमातखाना में मुस्लिम समाज के विभिन्न संगठनों से संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। शहर काजी अतीक उल्लाह कुरैशी की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सिंधिया से कांग्रेस की सरकार में भी उनके साथ भेदभाव की शिकायत की गई। सिंधिया ने कहा कि मुझे इसकी कोई परवाह नहीं है कि सरकार किसकी है, लेकिन अभिव्यक्ति के अधिकार को नहीं छीना जाना चाहिए, मैं इस बात का पक्षधर हूं। अगर मेरी सरकार भी आपकी बात नहीं सुनेगी तो मैं आपकी आवाज बनूंगा।