Loading...

स्कूलों की बिजली काटी जा रही है, शिक्षा विभाग ने बिल नहीं चुकाया | MP NEWS

भोपाल। प्रदेश के शासकीय प्रा/मा विद्यालयों में एक मिशन के तहत आला अधिकारियों के आदेश-निर्देश से विद्युत संयोजन होने पर स्थानीय स्तर पर विभिन्न विद्युत उपकरण शिक्षकों एवं जन सहयोग से बमुश्किल जुटाए थे। मप्र तृतीय वर्ग शास कर्मचारी संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार ने बताया कि विद्युत वितरण कंपनी ने बिल जमा न होने पर विद्यालयों के विद्युत संयोजन काटना शुरू कर दिया हैं। अचानक इस कार्रवाई से विद्यार्थी व शिक्षक सकते में है ; वहीं पालकों में आक्रोश व्याप्त है।  

शासकीय प्रा/मा विद्यालयों में बिल जमा कराने के लिए शासन की ओर से पृथक से कोई आबंटन जारी नहीं किया गया, राशि के अभाव में  बकाया बिल नहीं भरे जा सके, इस कारण संयोजन विच्छेद किये जा रहे हैं । शासकीय विद्यालयों में इसी कारण विद्युत संयोजन से परहेज किया जाता रहा है । लगभग दो वर्ष पूर्व आला अधिकारियों के दिशा-निर्देश से विद्यालयों को एकाधिक बार पत्र भेज कर विद्युत संयोजन के लिए बाध्य किया गया था। 

इसके पालन में "विद्युत संयोजन" लेकर जन सहयोग एवं अपने स्तर से विद्यालयों में विभिन्न विद्युत उपकरण पंखे, एलईडी, एलसीडी, टीवी, लाउडस्पीकर, फोटोकापी/प्रिंटर, कम्प्यूटर आदि लाखों की सामग्री से विद्यालय सुसज्जित किये है । "विद्युत संयोजन" विच्छेद होने के साथ ही सभी विद्यालयों में दीपावली के पूर्व अंधेरा फैल गया व लाखों के उपकरण कबाड़ होने वाले है । शासन प्रशासन व शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों से निवेदन है कि तत्काल प्रभाव से काटे गये संयोजन जोड़े जाकर बिल भुगतान की व्यवस्था शासन स्तर से की जानी चाहिए, ताकि नौनिहालों को इससे होने वाली असुविधा से बचाया जा सके व पालकों में व्याप्त आक्रोश पर अंकुश लग सके।