Loading...

पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याता: कमलनाथ सरकार के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान | EMPLOYEE NEWS

भोपाल। पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याता संगठन के अध्यक्ष अखिलेश सेन ने बताया कि शासन ने गेट - 2020 के माध्यम से तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्रालय, अधीन संचालित 67 पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में नियमित भर्ती विज्ञापन को निरस्त कराने के लिए पूरे मध्यप्रदेश में लभगग 800 अतिथि व्याख्याताओं द्वारा कब होगा न्याय - हस्ताक्षर अभियान में सम्मिलित है। 

सभी अध्यनरत छात्रों एवं अभिभावकों से हस्ताक्षर कराकर जागरूकता यात्रा के माध्यम नियमित भर्ती विज्ञापन निरस्त कराने के लिए भोपाल में आंदोलन करेंगे। क्योंकि पूर्व में 90 दिनों कार्य करने बाले अंशकालीन अतिथि व्याख्याताओं को तदर्थ व्यवस्था से नियमित किया गया है जबकि वर्तमान में पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याता औसतन 15 वर्ष से अधिक समय एवं पिछले 2 वर्षो से 11 माह नियमित रूप से अध्यापन, परीक्षा, प्रायौगिक परीक्षा, मूल्याकंन कार्य एवं अन्य प्रशासनिक कार्य भी नियमित रूप से करते आये है। 

चुनाव में वचन देने के बाद भी मध्यप्रदेश सरकार अपना वचन पूरा नही कर रही बल्की हमे नियमित भर्ती के द्वारा बेरोजगार भी करने का निर्णय भी ले चुकी शासन के भर्ती विज्ञापन से सभी पॉलिटेक्निक अतिथि अतिथि व्याख्याताओं को अपने वेरोजगार होने की चिंता सताने लगी है। 

संगठन के सचिव दिनेश सेन ने बताया कि यह हस्ताक्षर अभियान दिनाँक 14 अक्टूबर 2019 से 18 अक्टूबर 2019 तक चलेगा। इस अभियान के तहत खरगौन,  ग्वालियर , सागर,  सीहोर, शिवनी, रायसेन, मोरेना, शिवपुरी,  डबरा, दतिया, देवास, आगर- मालवा, मोरेना, भिंड, हरदा, डिंडोरी, दमोह आदि 2 दर्जन से अधिक जिलों में हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।

मध्यप्रदेश के सभी पॉलिटेक्निक अतिथि व्याख्याता इन हस्ताक्षर किए हुए 2.5 फ़ीट चौड़ाई एवं 10 मीटर कपड़े के बैनर को एक साथ जोड़कर लगभग एक किलोमीटर हस्ताक्षर बाला बैनर माननीय मुख्यमंत्री जी को भोपाल में देकर भर्ती निरस्त करने की मांग करेंगें।