Loading...

मैं रेस की घोड़ी नही हूं, फेक प्यार नहीं कर सकती: दलजीत कौर @ BIGG BOSS 13

बिग बॅास 13 की फिनाले की रेस से बाहर होने वाली पहली सहस्य बनीं दलजीत कौर। घर से बाहर निकलते हुए सलमान खान ने भी उनकी तारीफ की और कहा कि पूरे गेम को उन्होंने शालीनता से खेला है लेकिन कहीं ना कहीं दलजीत के लिए बाहर निकलना किसी बड़े झटके से कम नहीं रहा। बिग बॅास 13 से बाहर आने के बाद दलजीत कौर ने फिल्मीबीट से बातचीत की।

मुझे खेलने का मौका नहीं मिला


उन्होंने बताया कि वह इतने जल्दी घर से बाहर आना स्वीकार नहीं कर पा रही हैं। मेरे लिए शो काफी तेजी से गुजरा। मुझे खेलने का मौका नहीं मिला। मैं इसे लेकर बेहद दुखी और नाराज हूं। मैं इस फैसले से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं। मुझे यकीन था कि इतनी जल्दी बाहर नहीं आऊंगी। मुझे लगा था कि असली रिश्तों की कीमत होगी। घर में मेरे रिश्ते बने ही थे और मुझे बाहर निकाल दिया गया। मैं इससे जरा भी खुश नहीं हूं।

पारस और शहनाज में पूरा घर फंस चुका है


पारस और शहनाज में पूरा घर फंस चुका है। सिर्फ प्यार, प्यार और प्यार चल रहा है। ये सही नहीं है। आखिरकार घर में आने के एक वीक में कैसे किसी को दोस्ती- प्यार और फिर ब्रेकअप हो सकता है। फिर त्रिकोणीय प्रेम कहानी भी बन जाती है। ये सब रियल नहीं होता है।

वह हाईलाइट हो रहा है जो फेक है

मुझे ये चीजें फेक भी लग रही थी। ये सब मुझे परेशान भी कर रहा था कि क्यों हम हर बार सिर्फ शहनाज और पारस पर बात कर रहे हैं। मुझे दोनों की चीज रियल लगी ही नहीं रही थी। फिर इसमें अपना मत रखना या फिर कोई राय देने का कोई मतलब नहीं था। मुझे अच्छा नहीं लग रहा था कि वह हाईलाइट हो रहा है जो फेक है।

मेरे रिश्ते बहुत रियल होते हैं


मैं केवल अपना देखने वालों में से नहीं हूं। मेरे रिश्ते बहुत रियल होते हैं। मैं सबके साथ एक इमोशन बनाकर चलती हूं। मैं जैसी रियल जिंदगी में हूं मैंने ठीक वैसा ही खेला। धीरे-धीरे मेरे इमोशन बन भी रहे थे। लोगों से दोस्ती हुई। सिर्फ सिद्धार्थ डे को छोड़कर। मेरे इस तरह बाहर आने से सभी लोग दुखी थे। किसी को शो में यकीन नहीं हो रहा था कि मैं बाहर हो गई हूं।

मैं रेस की घोड़ी नही हूं

ये सीजन तेजी से चल रहा है इस वजह से बाहर हुई हूं, इसका पता नहीं लेकिन ये जो फेक प्यार वाली कहानी शो में शुरू है। उसमें मेरी कोई रेस नहीं है। मैं रेस की घोड़ी नही हूं। जाते ही घर में किसी से प्यार मैं नहीं कर सकती। मेरे लिए ये शो स्प्लिट्सविला नहीं है। ये बिग बॅास है। मैं फेक प्यार का मोड़ बिग बॅास की अपनी जर्नी में नहीं ला सकती।

सिद्धार्थ शुक्ला जीत सकते हैं ये शो

मेरे लिए ये बिग बॅास था। मैं ये सोच कर गई थी कि टास्क अच्छे से करूंगी। वो मैंने किया। अपनी जी जान लगाई। किसी ने गलत बोला तो जवाब भी दिया। जो मुझे लगा था कि बिग बॅास के लिए जरूरी है। कनेक्शन के नाम पर फेक रिश्ते बनाना मेरा स्वभाव नहीं है। बाकी इस सीजन को जीतने की खूबी अभी तक सिद्धार्थ शुक्ला में है। वो रियल हैं। वह किसी के लिए अच्छे बनने का नाटक नहीं कर रहे हैं।