Loading...

BHOPAL NEWS: बड़ा तालाब दो बार पूरा भर जाये इतना पानी बहाना पड़ा इस मानसून

भोपाल। इस सीजन में भोपाल में अब तक 177.93 सेमी बारिश हो चुकी है। यह सामान्य से 83 फीसदी ज्यादा है। इसका सबसे बड़ा असर बड़े तालाब पर पड़ा। भदभदा के गेट खोलकर अब तक 7300 एमसीएफटी (2.06 खरब लीटर पानी) पानी निकाला जा चुका है। यह इतना पानी है, जितने में बड़ा तालाब दो बार पूरा भर सकता था।

इतने पानी से तीन साल तक शहर की छह साल आबादी की तीन साल की पानी की जरूरत पूरी हो सकती थी। इस बार बारिश के साथ बड़े तालाब के कई रिकार्ड भी बने। पहला यह कि इस सीजन में भदभदा के गेट 25 बार खोले जा चुके हैं। इससे 1994 में 25 बार खोले गए गेट के रिकॉर्ड की बराबरी हो गई। दूसरा 2006 में सीजन में तालाब से निकाले गए 6500 एमसीएफटी (1.73 खरब लीटर पानी) पानी का रिकॉर्ड भी टूट गया। 
दो बार पूरा भरने व तीन साल का गणित 
पीएचई के रिटायर्ड चीफ इंजीनियर सुनील श्रीवास्तव ने बताया कि एफटीएल होने पर बड़े तालाब में पानी की क्षमता 3588 एमसीएफटी है। इस बार 7300 एमसीएफटी पानी निकाला जा चुका है। छोड़े गए पानी की यह मात्रा इस क्षमता से दोगुनी से भी अधिक है। तालाब पूरा भरने पर करीब डेढ़ साल तक छह लाख आबादी को पानी सप्लाई किया जा सकता है।

इन इलाकों में होता है इससे पानी सप्लाई 
पुराने शहर में शहर कमला पार्क से ईदगाह हिल्स तक, बीएचईएल, रौशनपुरा, 74 बंगले, न्यू मार्केट मालवीय नगर, 45 बंगले, बैरागढ़ में सप्लाई होता है। 

राजधानी में धूप खिली 
राज्य के कई हिस्सों में आसमान पर गुरुवार को आंशिक बादलों का डेरा है, जिससे धूप की तेजी नहीं है। लेकिन राजधानी में सुबह से ही धूप खिल हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य के उत्तरी हिस्से और आसपास के क्षेत्र में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इससे राज्य के कई स्थानों पर आंशिक बादल छाए हैं और आगामी 24 घंटों में बौछारें पड़ने के साथ बारिश होने की संभावना बनी हुई है। गुरुवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 21.2 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 21, ग्वालियर का 20़.6 और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 22.2 सेल्सियस दर्ज किया गया।