Loading...

नवीन शिक्षक संवर्ग को 7वां वेतनमान के आदेश जारी | ADHYAPAK 7th PAY SCALE ORDER

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश के 1.84 लाख अध्यापकों को सातवां वेतनमान देने का आदेश शनिवार को जारी कर दिया गया। अध्यापकों को ये बढ़ा हुआ वेतन अक्टूबर के वेतन से ही लागू कर दिया। ऐसे में अध्यापकों के नवंबर का बढ़ा हुआ वेतन मिला। राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की। इससे अध्यापकों को सरकारी कर्मचारियों के समान वेतन का फायदा होगा। शिक्षा विभाग ने दावा किया है कि ईकेवाईसी की तकनीकी अड़चन को भी दूर कर लिया गया है। इससे सातवें वेतनमान का लाभ नवंबर के वेतन से ही मिलने लगेगा।

ईकेवाईसी से आ रही थी परेशानी


दूसरी तरफ, जानकारों का कहना है कि ईकेवाईसी की प्रक्रिया स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा की जा रही है। इसमें 7वें वेतनमान का लाभ मिलने में 3-4 महीने का समय लग सकता है। विशेषज्ञ रमाकांत पांडे का कहना है कि प्रदेश के पूरे 1 लाख 84 हजार अध्यापकों का डाटा आधार से मैच किया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया में करीब 4 महीने का वक्त लगेगा।

सतना। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के प्रान्तीय प्रवक्ता विनय कनौजिया ने बताया कि प्रांताध्यक्ष भरत पटेल एवं आजाद अध्यापक शिक्षक संघ की पूरी टीम के प्रयास सफल हुये। बता दें कि सातवें वेतनमान के लिये प्रांताध्यक्ष भरत पटेल दो दिन से लगातार अधिकारियों एवं मंत्रियों से सम्पर्क कर रहे थे आज माननीय शिक्षा मंत्री से एक प्रतिनिधि मंडल भी सुबह मिला था। उन्होंने ही बताये थे कि आज आदेश करवा देंगे। तो आज ठीक दीपावली के एक दिन पहले मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय बल्लभ भवन भोपाल से अध्यापक संवर्ग से शिक्षक संवर्ग में सामिल हुये नवीन शैक्षणिक संवर्ग को सातवें वेतनमान अक्टूबर पैड नवम्बर के लिये आदेश जारी किये गये। इस आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि जिन अध्यापकों की छठवें वेतनमान की सेवा पुस्तिका का जिला पंचायत से व्हेरीफिकेशन होना जरूरी है। और एरियर्स के लिये अलग से आदेश जारी किये जाएंगे।

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष देवेंद्र पटेल का कहना है कि आज दिनाँक तक कई यैसे संकुल हैं जहां पर अध्यापक संवर्ग की सेवा पुस्तिका  का अनुमोदन जिला पंचायत से नाम मात्र का हुआ है जिससे नवीन संवर्ग को सातवें वेतनमान से दूर होना पड़ सकता है। इस न्यूज के माध्यम से जिन जिन संकुल प्रचार्यो ने आज दिनाँक तक सेवा पुस्तिकाओं का अनुमोदन नही करवाया है उन्हें जिम्मेदार अधिकारी आदेश करें और उनके ऊपर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाये।

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ माननीय मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी एवं माननीय शिक्षा मंत्री श्री प्रभू राम चौधरी जी का आभार व्यक्त करता है कि लम्बे संघर्ष के बाद अध्यापकों को सातवे वेतन मान देने के आदेश करवा दिये।

निम्नलिखित अध्यापक/शिक्षक आज खुशियां मना रहे हैं सातवें वेतनमान के आदेश होने पर - देवेंद्र पटेल, विनय कनौजिया, दिलीप बघेल, इंद्रजीत सिंह, राम सिंह, कपिल देव सिंह, विनोद पटेल, केपी सिंह,महेंद्र पांडेय, राजेंद्र पांडेय, रामाश्रय पटेल, शिव कुमार पटेल, बीरेंद्र सिंह, सुशील सिंगरौल, मुकेश सिंह, मनीष पाठक, उपेंद्र सिंह, विनीता सिंह, शिव कुमारी पटेल, जय प्रकाश पांडेय, हाकिम सिंह, अनुज विश्वकर्मा, हेमंत सिंह, चंद्र शेखर प्रसाद , शैलेंद्र सिंह बघेल, राजकुमार द्विवेदी, गुलाब मिश्रा, ज्ञानेंद्र सिंह, रामनरेश नामदेव, हरिशरण सिंह, देवकीनंदन, अवधेश सिंह, मान सिंह, तिग्गू नाई, मनोज विश्वकर्मा, अनिल कुमार बागरी, रामलाल बुंदेला,रमेश सिंह,सुखलाल कोल, रमेश कोल,सुरेंद्र सिंह,राकेश वर्मा, संजय चौधरी, सोभलाल साकेत, गुलशन चौधरी, काउंसल पटेल, बृजभान सिंह, रावेंद्र सिंह एवं अन्य सैकड़ो अध्यापक शिक्षक खुशियां मना रहे हैं।   

प्रान्तीय शिक्षक संघ  द्वारा  अध्यापको को 7 वें वेतनमान के आदेश करने पर मान मुख्यमन्त्री जी का आभार
संघ के अध्यक्ष मनोहर दुबे जी के नेत्रत्व मे मध्य प्रदेश के सभी  ब्लॉक, जिलों मे, संघ के सभी  ब्लॉक, जिलों के पदाधिकारियो सदस्यो के सहयोग से अध्यापको की मांगो के ज्ञापन मान मुख्य मन्त्री जी के नाम दिये गये।जिसके परिणाम स्वरुप मान दिग्विजय सिंह जी,के प्रयास से, हमारे शिक्षा मन्त्री जी की उपस्थिति मे सभी वित्त,एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियो के साथ बैठक कर 7वां वेतन मान के आदेश जारी करने के निर्देश दिये। और अक्टूबर पैड इन नवम्बर से दिये जानें के आदेश हुए। संघ कोई श्रेय के लिये नही बल्कि अध्यापको के हित की लडाई के लिये संघर्ष  आप के सहयोग से करता रहा है।साथियो एक कदम सफलता की ओर हम बढे है। इस सफलता के लिये मान मुख्यमन्त्री कमलनाथ जी, मान राजा साहब जी,  और संघ के संरक्षक मान विधायक/युवा कॉंग्रेस अध्यक्ष मप्र कुणाल चौधरी जी, एवं हमारे मान.स्कूल शिक्षा मन्त्री जी का संघ की ओर से बहुत-2आभार। प्रदेश अध्यक्ष मनोहर दुबे, कार्य प्रदेश अध्यक्ष राकेश पांडेय।