Loading...

बेरोजगारों को भी मिलता है क्रेडिट कार्ड, जानिए कैसे | Unemployed also get credit card, know how

CREDIT CARD आज के जमाने में एक जरूरत बनता जा रहा है। बात पैसा उधार लेने की नहीं है। कई कंपनियां क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर ज्यादा DISCOUNT देतीं हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड एक तरह से सेविंग कार्ड बन जाता है। यदि आप नौकरीपेशा हैं या फिर व्यापारी तो बैंक आपके घर आकर आपको क्रेडिट कार्ड देकर जाएंगे परंतु क्या आप जानते हैं कि यदि आप बेरोजगार हैं तब भी आपको क्रेडिट कार्ड मिल सकता है। आइए जानते हैं किस प्रकार के क्रेडिट कार्ड आपको मिल सकते हैं। 

1. स्टैंडर्ड क्रेडिट कार्ड | STANDARD CREDIT CARD 

अगर आपके पास नौकरी नहीं है लेकिन बैंक खाते में नियमित मनी फ्लो होता है यानी अलग-अलग स्रोतों से पैसे का आवागमन लगा रहता है तो कुछ जरूरी दस्तावेज देकर क्रेडिट कार्ड लिया जा सकता है। यह पैसा प्रफेशनल फीस या म्यूचुअल फंड से भी आ सकता है। बैंक आवेदक की कर्ज लौटाने की क्षमता का विश्लेषण करने के बाद क्रेडिट कार्ड इशू कर देती हैं। हालांकि जिनके पास नौकरी नहीं है वे ऑनलाइन अप्लाइ नहीं कर सकते। उन्हें स्टैंडर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए जरूरी दस्तावेज के साथ बैंक जाना पड़ेगा। ऐसे में नियमित रूप से आईटीआर भरने के दस्तावेज भी देने होते हैं।

2- सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड | SECURED CREDIT CARD 

अगर आपके पास नौकरी नहीं है तो क्रेडिट कार्ड लेने का एक और विकल्प है। फिक्स्ड डिपॉजिट के आधार पर भी बैंक क्रेडिट कार्ड इशू कर सकते हैं। इन क्रेडिट कार्ड्स की लिमिट FD के 80-90 प्रतिशत तक की क्रेडिट लिमिट दी जाती है हालांकि रकम निकासी 100 प्रतिशत भी हो सकती है। कोटैक महिंद्रा बैंक में 25,000 का फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट खुलवाकर आप एक्वा गोल्ड क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं।

3- ऐड ऑन क्रेडिट कार्ड्स | ADD-ON CREDIT CARD

अगर आपके पास न तो नौकरी है और न ही कभी फिक्स्ड डिपॉजिट किया है तो आप ऐ़ड ऑन क्रेडिट कार्ड या सप्लिमेंट्री क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाइ कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपके परिवार में किसी के पास प्राइमरी या स्टैंडर्ड क्रेडिट कार्ड होना चाहिए। यह आमतौर पर स्टूडेंट्स या गृहणियों के लिए उपयोगी होता है।

ऐड ऑन क्रेडिट कार्ड ऐसा अडिशनल कार्ड होता है तो प्राइमरी कार्ड के साथ इशू होता है और यह प्राइमरी कार्ड होल्डर के पति या पत्नी, माता-पिता या बच्चों (18 साल से ऊपर) को दिया जाता है। इसके लिए दोनों कार्ड पर क्रेडिट लिमिट का बंटवारा हो जाता है और ट्रांजैक्शन का एक ही स्टेटमेंट होता है।

आपको क्या करना चाहिए

क्रेडिट कार्ड से आपको आसानी से पैसा मिल जाता है लेकिन ध्यान रखें कि लापरवाही से आप कर्ज में भी फंस सकते हैं। क्रेडिट कार्ड आपके लिए तभी मददगार है जब आप सतर्क रहना और नियमित रहना जानते हों। खर्च के अलावा आपको और भी कई बातें जाननी चाहिए। इनमें समय पर बिल भरना, केवल न्यूनतम बिल नहीं बल्कि पूरा बिल भरने की आदत भी शामिल है।