Loading...

INDORE NEWS : पाइप पर लगी धूल ने किया हत्या और हत्यारे दोनों का खुलासा

इंदौर। पत्नी की गला घोंटकर हत्या करने वाले पति ने पुलिस को गुमराह करने का खूब प्रयास किया था। उसने कहा कि मामला आत्महत्या का है। पुलिस का लेना-देना नहीं है। घर की बात है। बगैर कार्रवाई के मामला रफादफा कर दो। वह अलग-अलग बयान देकर पुलिस को रवाना करने का प्रयास करता रहा।

राऊ थाना टीआई दिनेश वर्मा के मुताबिक राम रहीम कॉलोनी निवासी 63 वर्षीय सुंदरलाल जायसवाल (Sunderlal Jaiswal) ने मंगलवार सुबह 61 वर्षीय पत्नी मालती (Malti Jaiswal) की गला घोंटकर हत्या कर दी थी और उसे आत्महत्या दर्शाने का प्रयास करते हुए मालती के गले में साड़ी का फंदा कसकर शव बाथरूम में पटक दिया था। पुलिस मौके पर पहुंची तो कहा कि पत्नी मानसिक रूप से परेशान थी। बेटा 12 साल से जेल में है। उसे याद करती रहती थी। आत्महत्या का केस बनाने पर शव का पोस्टमार्टम करवाना पड़ेगा। लिखा-पढ़ी मत करो और मामला ऐसे ही रफादफा कर दो। 

पुलिस को उसकी बातें शंकास्पद लगी तो फोरेंसिक अफसरों को बुला लिया। पुलिस और फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची तो पाइप पर लगी धूल और साड़ी की गठान को मामले में हत्या का शक जताया। पुलिस ने आरोपित बुजुर्ग को पकड़ लिया।

63 वर्षीय सुंदरलाल जायसवाल ने थाने पर कॉल कर बताया कि पत्नी मालती ने फांसी लगा ली है। पुलिस को मौके पर बुलाकर सुंदरलाल फूट-फूट कर रोने लगा। सिपाही मौके पर पहुंचे और आत्महत्या का केस जान खानापूर्ति में जुट गए। तभी प्रधान आरक्षक ने सुंदरलाल की बेटी को फोन कर बताया कि तुम्हारी मां ने आत्महत्या कर ली है। बेटी ने कहा कि मां और पिता अक्सर झगड़ा करते थे। वह मेरे पास आने का बोल रही थी। आप फोरेंसिक टीम को बुला कर जांच करवाओ।

टीआई दिनेश वर्मा ने एफएसएल एक्सपर्ट डॉ. बीएल मंडलोई को मौके पर बुलाया। उन्होंने देखा कि मालती का शव टॉयलेट सीट के पास पड़ा हुआ है। सुंदरलाल ने कहा कि बाथरूम में लगे पानी के पाइप से लटक कर फांसी लगाई है। डॉ. मंडलोई ने पाइप देखा तो उस पर धूल जमी थी। गले में बंधा साड़ी का फंदे में भी गठानें आगे की ओर लगी हुई थी। इससे शक गहराया और सुंदरलाल को हिरासत में ले लिया। सख्ती करने पर वह टूट गया और कहा कि रोज के झगड़ों से तंग आकर उसने ही मालती की हत्या की है।

BANK ने मकान सीज करने पर पति-पत्नी में बढ़ा विवाद

एएसपी के अनुसार सुंदरलाल का एक मकान है जिसे बैंक ने सीज कर लिया था। इसके बाद पति-पत्नी में विवाद होने लगा था। उसके बेटे को 12 साल पहले पुलिस ने डकैती के आरोप में गिरफ्तार किया था। सुंदरलाल ने पुलिस को गुमराह करने के लिए कहा कि वह सुबह 7 बजे टहलने गया था। 8.30 बजे लौटा तो पत्नी का शव देखा। पत्नी ने बेटे के गम में फांसी लगाई है। वहीं पुलिस ने उसके रिश्तेदार से बातचीत की तो बताया मालती से सवा 9 बजे फोन पर बात हुई है।