Loading...

GWALIOR NEWS : 12वीं के छात्र ने गोवा घूमने माँ के गहने चुरा पेड़ पर टांगे, गिरफ्तार

ग्वालियर। माता-पिता ड्यूटी पर गए थे। इकलौते बेटे ने अलमारी से 3 लाख रुपए के गहने चोरी कर स्कूल बैग में रखे और सड़क किनारे एक पेड़ पर बैग टांग दिया। घटना मंगलवार दोपहर जिला पंचायत भवन के सामने शासकीय क्वार्टर थाटीपुर की है। जब दंपति ड्यूटी से लौटा तो घर में चोरी होने की सूचना थाटीपुर पुलिस को दी। 
 
दिनदहाड़े लाखों के जेवर चोरी होने की खबर पर पुलिस अफसर मौके पर पहुंचे। चोरी का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। तभी पुलिस को पता लगा कि दंपति का इकलौता बेटा 12वीं का छात्र है और स्मैक का आदी है। दोस्तों से पड़ताल की तो दोपहर में उसे बैग लेकर पेड़ की तरफ जाते देखने का पता लगा। जिस पर पुलिस पेड़ तक पहुंची तो जेवरात से भरा बैग बरामद किया। इसके बाद पता लगा कि चोरी करने के बाद रात में बेटा गोवा भागने की तैयारी में था। पुलिस ने बेटो को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

थाटीपुर थानाक्षेत्र स्थित चौहान प्याऊ के पास जिला पंचायत भवन के सामने शासकीय क्वार्टर निवासी अर्जुन राव शिंदे (Arjun Rao Shinde) और उनकी पत्नी शशि शिंदे (Shashi Shinde) दोनों ही पीएचई विभाग में एलडीसी हैं। घर में उनके अलावा इकलौता बेटा हर्ष (18) रहता है। हर्ष 12वीं का छात्र है। मंगलवार सुबह 10 बजे दंपति ड्यूटी के लिए निकले थे। घर पर बेटा हर्ष (Harsh Shinde) अकेला था। शाम 5.30 जब शशि घर लौटीं तो बेटा नहीं था। वह पड़ोसियों से खेलने जाने की कहकर निकल गया था। अंदर जब वह पहुंचीं तो देखा कि अलमारी का लॉक टूटा पड़ा है। अंदर लॉकर से करीब ढाई से 3 लाख के गहने चोरी हो चुके हैं। इस वह थाटीपुर थाने पहुंचे और शिकायत की। दिनदहाड़े शासकीय क्वार्टर में चोरी की घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने जांच कर चोरी का मामला दर्ज कर लिया। जब पुलिस जांच कर रही थी तो पता चला कि घर के मुख्य दरवाजे के ताले नहीं टूटे हैं। घर के अंदर किसी को आते जाते भी नहीं देखा गया है।

जांच के दौरान पुलिस को पता कि दंपति का इकलौता बेटा 12वीं का छात्र जरूर है पर स्मैक के नशे का आदी है। घटना के समय वह घर पर अकेला था। इसके बाद पुलिस ने छात्र से पूछताछ की तो वह दोपहर 2 बजे घर से खेलने जाने की बात कहने लगा। उसकी उम्र कम होने पर पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ नहीं कर सकती थी। पर उसकी हरकत और कहानी से संदेह गहराता जा रहा था। जब उसके दोस्तों से पता किया तो दोपहर में वह बैग लेकर जाता दिखा और कुछ देर बाद खाली हाथ आते देखे जाने की बात पता चली। इसके बाद पुलिस ने जहां तक वह गया था वहां छानबीन शुरू की। तभी एक पेड़ पर बैग टंगा दिखा। पुलिस ने पेड़ से बैग उतारा तो उसमें सारे चोरी गए जेवर मिल गए।

पुलिस ने संदेह होने के बाद शाम से ही छात्र को निगरानी में ले लिया था। रात 2 बजे जेवर मिलने के बाद उसका स्कूल बैग रखकर पूछताछ की तो छात्र ने सब कबूल कर लिया। छात्र ने बताया कि उसने ही जेवर चोरी कर छिपाए थे। रात होने पर वह जेवर का बैग उतारकर गोवा भागने की तैयारी में था। वहां कुछ दिन मौज करने की योजना थी। जिस समय पुलिस उससे पूछताछ कर रही थी वह स्मैक के नशे में ही था। बुधवार को पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया।