Loading...

COMESUM FOOD PLAZA में फिर बिक रहा था दो दिन पुराना फ़ूड | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। उत्तर मध्य रेलवे के चीफ कॉमर्शियल मैनेजर एसपी वर्मा और मुख्य वाणिज्य निरीक्षक मुख्यालय संतोष त्रिपाठी ने गुरुवार को रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्हें कमसम फूड प्लाजा में बासे बर्गर मिले, जिन्हें देखकर सीसीएम बोले- क्या यात्रियों को बासे बर्गर बेचे जाएंगे। इस पर कमसम का मैनेजर बोला बर्गर आगरा से आते हैं, उनके कवर नहीं बदले गए हैं। सीसीएम और उनकी टीम ने रेलवे स्टेशन, ट्रेनों में मिलने वाले यात्रियों के खानपान को लेकर अधिकारी गंभीर दिखाई दिए। 

इलाहाबाद से चीफ कामर्शियल मैनेजर(सीसीएम) एसपी वर्मा और मुख्य वाणिज्य निरीक्षक संतोष त्रिपाठी गुरुवार को ग्वालियर आए। यहां उन्होंने फुल ओवर ब्रिज से सटी हुई खानपान की स्टॉल पर यात्रियों को दिए जाने वाले खाने के देखा। इस दौरान अधिकारी जब कमसम फूड प्लाजा में पहुंचे, तो वहां पर दो दिन पुराने बर्गर रखे हुए थे। यह देखकर सीसीएम श्री वर्मा ने प्रबंधक से पूछा कि क्या यात्रियों को बासे बर्गर बेचे जाएंगे। कमसम के मैनेजर ने कहा कि बर्गर आगरा से आते हैं, उनके कवर नहीं बदले गए हैं। 

यहां पड़ी गंदगी देखकर उन्होंने प्रबंधक से कहा कि सफाई व्यवस्था पर भी ध्यान दो। इसके बाद उन्होंने स्टॉल देखे, जहां उन्होंने निर्देश दिए कि रेलवे ने यात्रियों के लिए 15 रुपये में जनता खाना देने का जो वादा किया है, वह पूरा होना चाहिए। टीम ने स्टेशन पर रुकने वाली ट्रेनों में बिक्री होने वाले खानपान की भी जानकारी ली। रेलवे परिसर में संचालित खानपान की स्टाॅल पर ओवर रेटिंग पर सामान न बेचने की हिदायत दी। निरीक्षण के दौरान सीसीएम श्री वर्मा ने ग्वालियर में पदस्थ कैटरिंग इंस्पेक्टर अनुज श्रीवास्तव से कैटरिंग की पॉलिसी के बारे में पूछा, तो वह कुछ नहीं बता पाएं। इस पर सीसीएम ने नाराजगी जताते हुए कहा कि आप कैटरिंग इंस्पेक्टर हो कम से कम नियमों की तो जानकारी आपको होनी चाहिए।

सीसीएम एसपी वर्मा ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान बताया कि छह महीनों में एनसीआर के जितने भी स्टेशनों पर शिकायतें दर्ज हुई है। उनकी बारीकी से जांच कराई जाएगी। साथ ही दोबारा शिकायतें न आएं, इसके लिए दोषियों पर कार्रवाई होगी। आगामी 15 दिन बाद एसआईजी निरीक्षण किया जाएगा। एक सवाल के जवाब ने कहा कि अगर डिप्टी एसएस शिकायत दर्ज नहीं करते हैं, तो यात्री रेल मदद एप पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है।