Loading...

बतंगड़: BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक और VIDEO आया, इस बार टारगेट पर MEDIA थी

भोपाल। भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर का एक और वीडियो सामने आ गया है। हेमंत करकरे, बावरी ढांचा, भाजपा नेताओं पर तांत्रिक टोटके, के बाद इस बार मीडिया को टारगेट किया गया। उन्होंने मीडिया वालों को बेईमान कहा है। 

जितने भी सीहोर के मीडिया वाले बेईमान हैं

मंगलवार को प्रज्ञा ठाकुर सीहोर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची थी। अस्पताल में हुए कार्यक्रम के बाद मीडिया ने उनसे बात करना चाही। प्रज्ञा ने मीडिया से कहा कि यहां एक भी पत्रकार ईमानदार नहीं है। हम बोल रहे हैं सुनो तुम्हारी तारीफ, जितने भी सीहोर के मीडिया वाले बेईमान हैं।

प्रज्ञा ठाकुर के विवादित बयान

मैंने करकरे से कहा था, तेरा सर्वनाश होगा। ठीक सवा महीने में सूतक लगता है। जिस दिन मैं गई थी, उस दिन इसका सूतक लग गया था और ठीक सवा महीने में जिस दिन आतंकवादियों ने इसको मारा उस दिन उसका अंत हुआ। 
नाथूराम गोडसे देश भक्त थे, हैं और रहेंगे। उनको आतंकवादी कहने वाले लोगों को स्वयं की गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए, ऐसा बोलने वालों को इस चुनाव में जवाब दे दिया जाएगा।
अयोध्या में विवादित ढांचे को तोड़ने पर मुझे गर्व है। मैं खुद विवादित ढांचा गिराने गई थी। मुझे ईश्वर ने शक्ति दी थी, हमने देश का कलंक मिटाया है। 
भगवान राम के काल में रावण हुआ उसका अंत संन्यासियों के द्वारा करवाया गया। जब हमारा द्वापर युग था जब कंस हुआ तो उसका अंत कराने के लिए पुनः संत आए जिनको कंस ने जेलों में ठूंस रखा था। ऐसे संतों का ऐसे संन्यासियों का शाप लगा और वह शाप उसको अंत तक ले गए और भगवान कृष्ण ने उसका अंत किया। ऐसी ही आसुरी शक्तियां जब यहां व्याप्त हो गईं 2008 में मैं जब जेल गई पूरा दृश्य मुझे समझ में आया और जब यह धर्मविरुद्ध गया। और कांग्रेस धर्मविरुद्ध गई। सूत्रकार यह है इसका समापन हमें करना है। 
राज्य में 16 साल पहले उमा दीदी ने हराया था। वह 16 साल मुंह नहीं उठा पाया, और राजनीति कर लेता इसकी कोशिश नहीं कर पाया। अब फिर से सिर उठा है तो दूसरी संन्यासी सामने आ गई है जो उसके कर्मों का प्रत्यक्ष प्रमाण है। 
सीहोर में कहा था कि नाली साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनी हूं। आपका शौचालय साफ करवाने के लिए सांसद बिल्कुल नहीं बनाए गए हैं।
भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के निधन पर प्रज्ञा ने कहा कि इसके पीछे विपक्ष का हाथ है, वह पार्टी के नेताओं पर तांत्रिक क्रिया कर रहा है। प्रज्ञा ने कहा- भाजपा के जिन वरिष्ठ नेताओं का पिछले दिनों निधन हुआ, उसके पीछे विपक्ष का हाथ है। भाजपा को नुकसान पहुंचाने के लिए विपक्ष "मारण शक्ति' (तांत्रिक क्रिया) का प्रयोग कर रहा है।