Loading...    
   


हाईप्रोफाइल हनी ट्रैप रैकेट का बीजेपी कनेक्शन | BJP connection of high profile honey trap racket

इंदौर। हाईप्रोफाइल हनीट्रैप रैकेट मामले में अब तक 6 गिरफ्तारियां हो चुकीं हैं। इनमें से 3 युवतियां भोपाल से, 2 इंदौर से पकड़ी गईं हैं। एक युवक भी गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्त में आईं युवतियों में से एक भोपाल के रिवेरा टाउन स्थित पूर्व मंत्री के बंगले से पकड़ी गई जबकि दूसरी भाजपा विधायक के यहां किराएदार बनकर रही थी। भोपाल से पकड़ी गई तीसरी युवती का भी भाजपा नेताओं से संबंध बताया जा रहा है। जांच चल रही है। प्रश्न यह भी है कि क्या भाजपा नेता इस रैकेट का उपयोग अपने फायदे के लिए कर रहे थे। 

विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के बंगले में किराए से रहती थी

पुलिस ने बुधवार को भोपाल से एक महिला को हिरासत में लिया। यह महिला पन्ना के भाजपा विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह के बंगले में किराए से रहती है। अपनी सफाई में कहा कि महिला को बंगला किराए पर ब्रोकर के जरिए दिया गया था और वह महिला सितंबर से ही यहां रह रही है। इस महिला के खिलाफ कुछ दिन पहले इंदौर में ब्लैकमेल करने की एफआईआर दर्ज की गई थी। महिला की गतिविधियों पर इंटेलीजेंस भी नजर रखे हुई थी। एटीएस भी अपने स्तर पर साक्ष्य इकट्ठा कर रही थी। इसके अलावा मिनाल रेसीडेंसी से दो महिलाओं समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया। जांच में महिला के पूर्व मंत्रियों से संबंधों का भी पता चल रहा है।

अफसरों के पास काॅल गर्ल भेजकर वीडियो बनातीं थीं

पुलिस सूत्रों ने बताया कि यह महिलाएं नेताओं और अफसरों के पास काॅल गर्ल भेजकर उनके आपत्तिजनक वीडियो बनाकर उन्हें वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करती थीं। कुछ दिन पहले भी गिरोह की मुखिया ने एक सीनियर अफसर के साथ का आपत्तिजनक वीडियो वायरल किया था। यह बात भी सामने आई है कि हाईप्रोफाइल रैकेट की मुखिया के पास कई राजनेताओं और अफसरों की सीडी भी है।

नगर निगम अफसर से मांगे थे 2 करोड़

इंदौर नगर निगम के एक अफसर को भी इन्होंने हनी ट्रैप में फंसाकर वीडियो बनाकर दो करोड़ रुपए की मांग की थी। इसकी शिकायत अधिकारी ने पुलिस को की थी। इस संबंध में पूछताछ के लिए गुरुवार सुबह तीनों महिलाओं को क्राइम ब्रांच की टीम इंदौर लेकर पहुंची। इनसे पलासिया स्थित महिला थाने में पूछताछ की जा रही है। 

इंदौर में एक युवती की हिरासत के बाद खुला मामला

जानकारी के मुताबिक, हनी ट्रैप में फंसने के बाद नगर निगम के इंजीनियर ने शिकायत की थी कि दो महिलाएं उसे ब्लैकमेल कर रही हैं। वे वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दो करोड़ रुपए से ज्यादा की मांग कर रही हैं। इसके बाद विजय नगर पुलिस ने मंगलवार को एक महिला और उसके साथी को गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने अपने साथियों के नाम बताए थे। इसके बाद एक को इंदौर और तीन महिला को भोपाल से हिरासत में लिया गया।

एटीएस की मौजूदगी पर सवाल

इंदौर पुलिस ने गुरुवार को महिलाओं का मेडिकल करवाया। आरोप है कि यह सभी अधिकारियों और व्यापारियों को हनीट्रैप के जरिए फंसाकर ब्लैकमेल करती हैं। मामले में गृहमंत्री ने जल्द खुलासा करने की बात कही है। हालांकि, इस हाई प्रोफाइल मामले में पुलिस मुख्यालय तक के अफसरों ने चुप्पी साध रखी है। इस कार्रवाई में एंटी टेररिस्ट स्क्वाॅड (एटीएस) के शामिल होने से भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

कोई भी आरोपी बचेंगे नहीं: गृहमंत्री

गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा कि यह बड़ी कार्रवाई है। इसमें गहराई से जांच की जा रही है। कोई भी अपराधी बच नहीं पाएगा। प्लान बनाकर लोगों को शिकार बनाते थे, वे सभी बेनकाब होंगे। भोपाल और इंदौर पुलिस मामले में जांच कर रही है। इसमें यदि अधिकारी, नेता जो भी हो पकड़े जाएंगे। पकड़ी गई महिलाएं नेता के घर में रह रही थीं। जांच के बाद ही हम नाम और पूरी जानकारी बताएंगे।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here