Loading...

भोपाल के आसमां पर बादलों का डेरा, दशहरे तक बरसता रहेगा | BHOPAL NEWS

भोपाल। भोपाल शहर के आसमान पर बादलों के एक कबीले ने डेरा जमा रखा है। वो टस से मस होने का नाम नहीं ले रहा। सोमवार को उसने शहर भर में फेरी लगाकर बारिश की। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि यह सिलसिला जारी रहेगा। विजय दशमी के आसपास ही मानसून के वापस जाने की संभावना है। 

सारे शहर में फेरी लगाकर बरसे बादल

साेमवार काे भी रात तक रुक- रुक कर पानी बरसता रहा। रात 8.30 बजे तक 2.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। सुबह 9 बजे नए शहर और साकेत नगर से भेल टाउनशिप, नीलबड़ और काेलार तक के इलाकाें में हल्की बारिश हुई। पुराने शहर के शाजहांनाबाद, बाहर महल, राॅयल मार्केट इलाकों में बारिश हुई। दोपहर काे एमपी नगर, अरेरा हिल्स, श्यामला हिल्स, कमला पार्क, रेतघाट, छावनी समेत आसपास के इलाके तर हुए। रात काे नए व पुराने शहर के अलावा होशंगाबाद राेड, मिसराेद, राेहित नगर इलाकाें में पानी बरसा।  

तापमान घट रहा है, रात में सर्दियों का अहसास 

बारिश हाेने से दिन के तापमान में करीब दाे डिग्री की गिरावट हुई। वरिष्ठ मौैसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि साेमवार काे दिन का तापमान 29.9 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 1 डिग्री कम रहा। बारिश हाेने से शाम काे शहर में ठंडी हवा भी चली। शाम 5.30 बजे भी तापमान सामान्य से 4 डिग्री कम हाे गया था।

नवरात्रि के बाद ही बंद होगी बारिश

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि इस बार मानसून की विदाई अक्टूबर के पहले हफ्ते में ही संभव है। इस सीजन में मानसूनी सिस्टम के बनने का सिलसिला अभी भी जारी है। शुक्ला ने बताया कि मंगलवार काे भी शहर के कई हिस्साें में हल्की बारिश हाेने की संभावना है।

मौसम विज्ञान के छात्रों के लिए

मॉनसून में ब्रेक अगस्त से जुलाई में शिफ्ट हो गया है। इस कारण अगस्त में सामान्य बारिश में वृद्धि हुई है। ब्रेक की अवधि के दौरान, मानसून ट्रफ लाइन अपनी सामान्य स्थिति से उत्तर की ओर बढ़ जाती है। 82% ज्यादा बारिश भोपाल में मानसून ने 28 जून को दस्तक दी थी। इस बार 88 दिन बाद भी यह सक्रिय है। इसकी सक्रियता की वजह से ही भोपाल में अब तक 170.86 सेमी बारिश हो चुकी है। यह अब तक की सामान्य बारिश 93.95 सेमी से 82 फीसदी ज्यादा है।