Loading...

बस्तियां डूब रहीं हैं, सांसद प्रज्ञा सिंह कहां हैं, पीड़ितों देखने भी नहीं आईं | BHOPAL NEWS

भोपाल। शहर का निचला हिस्सा पानी में डूब गया है। आधा दर्जन से ज्यादा बस्तियों में पानी भर गया है। लोग बेघर हो गए। करोड़ों का नुक्सान हो चुका है। मदद के नाम पर प्रशासनिक इंतजाम हो गए हैं परंतु वो भी पूरे नहीं है। सरकार की तरफ से मंत्री पीसी शर्मा लगातार दूसरे दिन भी आए, सोमवार को भोपाल से चुनाव हारे सांसद दिग्विजय सिंह थे लेकिन रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीतीं सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर कहीं नजर नहीं आईं। 

हारे हुए दिग्विजय सिंह देखने तो आए


सोमवार को जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह के साथ प्रभावित गरीब बस्तियों में पहुँचे। श्री शर्मा ने जिला कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े को निर्देश दिये कि जल-भराव से प्रभावित परिवारों को राशन और राहत सामग्री तुरंत उपलब्ध कराई जाये। निचले क्षेत्र में बसे झुग्गीवासियों को मल्टी बिल्डिंग्स में शिफ्ट किया जाये। प्रभावित परिवारों का सर्वे कर उन्हें तत्काल राहत प्रदान करें।

प्रज्ञा सिंह ने कहा था: नाली साफ करने सांसद नहीं बनी हूं

सीहोर में जुलाई 2019 में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि, ‘‘आपको एक फोन नंबर सहजता से मिल गया और आपने (मुझे) लगा दिया। हम किस परिस्थिति में हैं? क्या कर रहे हैं ?.....’’ प्रज्ञा ने कहा, ‘‘तो ध्यान रखो, हम नाली साफ करने के लिए नहीं बने हैं। ठीक है ना। हम आपके शौचालय साफ करने के लिए बिलकुल नहीं बनाये गये हैं। हम जिस काम के लिए बनाये गये हैं, वह काम हम ईमानदारी से करेंगे। यह हमारा पहले भी कहना था, आज भी कहना है और आगे भी कहेंगे।’’ 

बेघर हुए लोगों को राहत दिलाना सांसद का काम नहीं है क्या

लोग सवाल कर रहे हैं कि भारी बारिश के कारण बेघर हुए लोगों को राहत दिलाना। सरकारी शिविरों में सुविधाएं उपलब्ध कराना। उन्हे भोजन उपलब्ध कराना सांसद का काम नहीं है क्या। ऐसे हालात में कम से कम पीड़ितों के बीच तो जाना चाहिए।