Loading...

अतिथि शिक्षक: 3 साल तक वेतनवृद्धि नहीं चाहिए, बस नियमित कर दीजिए | KHULA KHAT @ CM KAMAL NATH

रामलखन लोधी कार्यकारी जिला अध्यक्ष रायसेन। माननीय कमलनाथ जी, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन भोपाल। 12 नवम्बर 2018 को आपने पीसीसी कार्यालय भोपाल बुलाकर अतिथि शिक्षकों को गुरुजियों की तर्ज पर नियमित करने का वचन दिया था। अतिथि शिक्षकों ने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में इसलिये मदद की क्योंकि हम लोग विगत 12 वर्षों से पूर्व सरकार से शोषित,पीड़ित व दुखी थे। आपकी सरकार बने 8 महीने हो चुके है, परंतु हमारे भविष्य को लेकर आप बिलकुल भी चिंतित नही है, इसलिये प्रदेश अतिथि शिक्षक 4-5 सितंबर को सीहोर से भोपाल विशाल तिरंगा यात्रा लेकर वचन याद दिलाने 30 से 35 हजार की संख्या में भोपाल पहुंचे थे।

मुख्य सचिव ने कहा है: नियमितीकरण नहीं हो सकता

विधि एवं कार्यमंत्री श्री पीसी शर्मा जी ने हमे आश्वासन दिया था, कि में आपकी सीएम साहब से 7 सितंबर को बैठक कराने की जिम्मेदारी लेता हूं, लेकिन बैठक आपसे न होकर मुख्य सचिव श्री मान एस आर मोहंती जी से हुई, जिसमे आपके अधिकारी महोदय का कहना है कि वचन सरकार ने दिया है हमने नही, अतिथि शिक्षकों का नियमितीकरण नही हो सकता, जिससे अतिथि शिक्षकों में भारी आक्रोश हैं।

चुनाव में कांग्रेस को मदद हमने की, फायदा दूसरे कर्मचारियों को

यह कि आपने हमे वचन दिया था, इसलिये आपसे हमे बहुत उम्मीदें हैं, क्योकि आपका ही कथन हैं कि नियम ऊपर से नही बनते, न ही इसे भगवान बनाते हैं, अगर कर्मचारियों के नियमितीकरण में नियम बाधा हैं, तो नियम संशोधन किए जा सकते, बनाये जा सकते हैं, आपने पूर्व सरकार में बाहर हो चुके संविदा कर्मचारियों की सेवा बहाली की है, अध्यापकों को उनका जायज हक़ दिया है, तथा अन्य शासकीय-अशासकीय कर्मचारियों के हित में निर्णय सरकार ले रही है तो फिर अतिथि शिक्षकों के हित मे क्यों नही, जबकि प्रदेश में सरकार बनबाने में हमने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

अतिथि शिक्षक शपथ पत्र देने को तैयार हैं    

यह कि हमारी मांग अनार्थिक हैं, वर्तमान सत्र में हमें जो मानदेय वर्गानुसार 5000,7000,9000 हजार दिया जा रहा है। इसी मानदेय पर हम लोग 3 साल कार्य करने के लिए तैयार हैं। सरकार की माली स्थिति ठीक होने के बाद हमारा वेतन बढ़ाया जाए। जिसका हम शपथ पत्र देने को तैयार हैं। अतः आप से विनम्र आग्रह हैं कि आप अतिथि शिक्षकों के लिये पॉलिसी बनाकर हमारा पद स्थाई , नियमित करने की कृपा करे।
रामलखन लोधी
कार्यकारी जिला अध्यक्ष, जिला रायसेन (म. प्र.)
संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ भोपाल (म.प्र.) एवं समस्त अतिथि शिक्षक मध्य प्रदेश।