Loading...

तकनीकी शिक्षा विभाग में संविदा कर्मचारी नीति 2018 लागू होगी | SAMVIDA KARMACHARI SAMACHAR

भोपाल। मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर के नेतृत्व तकनकी शिक्षा विश्वविद्यालयों में संविदा पर कार्यरत व्याख्याता, सहायक प्राध्यापक और संविदा कर्मचारियों का एक प्रतिनिध मंडल म.प्र. के तकनकी शिक्षा एवं गृह विभाग के कैबिनेट मंत्री बाला बच्चन से मिला एवं तकनकी शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए 5 जून 2018 को सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा संविदा कर्मचारियों के लिए नीति लागू करने की मांग की। 

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि 5 जून 2018 को सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा संविदा कर्मचारियों के लिए एक नीति बनाई गई थी जिसका पालन म.प्र. के प्रौद्योगिकी तथा तकनीकी विश्वविद्लयों में लागू नहीं हो रहा है। जिसके कारण इन विश्वविद्यालयों मे कार्यरत संविदा कर्मचारी, व्याख्याता, और सहायक प्राध्यापक अल्प वेतन पर कार्य करने पर मजबूर हैं और विश्वविद्यालय प्रबंधन उनका शोषण कर रहा है इसलिए 5 जून 2018 को जो संविदा नीति म.प्र. शासन ने बनाई थी उसका पालन करने हेतु इन तकनीकी शिक्षा विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी करने का अनुरोध किया। 

मंत्री बाला बच्चन ने तकनीकी विश्वविद्यालयों में 5 जून 2018 की संविदा नीति पालन करवाये जाने के लिए प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया। इस अवसर पर महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने विधि विधायी एवं जनसंपर्क मंत्री माननीय पी.सी. शर्मा जी के द्वारा तकनकी विश्वविद्यालयों में संविदा पर कार्यरत व्याख्याता,सहायक प्राध्यापक और कर्मचारियों को 5 जून 2018 की नीति का लाभ दिये जाने के लिये की गई अनुशंसा वाला पत्र तकनकी शिक्षा मंत्री बाला बच्चन को सौंपा। प्रतिनिधि मंडल में विवेक शर्मा, हिमांशु राय, गौरव जैन फरहद मेहता, वी.एस. राजपूत, सुरभी श्रीवास्तव आदि अधिकारी कर्मचारीगण थे।