Loading...

ओंकारेश्वर बांध के 18 गेट तथा इंदिरा सागर बांध के 12 गेट खोले | KHANDWA, MP NEWS

खंडवा। नर्मदा नदी में लगातार जलस्तर बढ़ने से इंदौर-इच्छापुर हाईवे स्थित मोरटक्का पुल पर मंगलवार को भी ट्रैफिक बंद है। वहीं, क्षमता से ज्यादा जलभराव के चलते इंदिरा सागर बांध के 12 गेट साढ़े छह मीटर तक खोल दिए गए हैं। आंकारेश्वर बांध के 18 गेट से पानी छोड़ा जा रहा है। लगातार जलस्तर बढ़ने से मोरटक्का पुल से नर्मदा नदी छूने को है। रविवार रात 11.40 बजे पुल पर से यातायात व्यवस्था बंद है। मौसम विभाग ने प्रदेश के 16 जिलों में यलो अलर्ट (भारी बारिश) जारी किया है। इसमें खंडवा भी शामिल है। वहीं नेमावर में आचार्यश्री विद्या सागर जी महाराज नर्मदा नदी का अवलोकन करने पहुंचे। 

इंदिरा सागर बांध गेट खोले 

इंदिरा सागर परियोजना प्रमुख अनुराग शेठ ने बताया कि प्रदेश में हो रही लगातार बारिश से नर्मदा नदी पर बने छोटे-बड़े सभी डैम के गेट खेल दिए गए हैं। बरगी-तवा सहित अन्य जगहों से आ रहे पानी के कारण डैम का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। डैम की क्षमता 12.22 बिलियन क्यूबिक मीटर है। क्षमता से अधिक पानी होने के कारण 12 गेट साढ़े छह मीटर तक खोलकर 20800 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है।

आचार्यश्री विद्या सागर जी नर्मदा नदी का अवलोकन किया 

इसके साथ ही आठों टर्बाइन के जरिए 1000 मेगावॉट बिजली का उत्पादन किया जा रहा है। यहां से निकल रहे पानी के कारण ओंकारेश्वर बांध भी अपनी क्षमता से ज्यादा भर चुका है। इसके 18 गेट से 23000 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है।