Loading...

बरगी बांध के 15 गेट खुले, सै​लानियों का संडे बन गया, अब नर्मदा घाटों पर बाढ़ का खतरा | JABALPUR NEWS

जबलपुर। कैचमेंट एरिया में लगातार हो रही बारिश के चलते बरगी बांध के गेट (Bargi Dam Gate) बंद करने या कम करने की स्थिति अभी भी नहीं बन पा रहा है, आज रविवार को सुबह 15 गेट खोले गए. बांध के 15 गेट खुलने की खबर के बाद आज सुबह से ही पर्यटकों (Tourists) की भीड़ लग गई, शहर से लोग परिवार सहित छुट्टी बिताने के लिए बरगी डेम पहुंचने लगे थे. 

बताया जाता है कि एमपी में इस बार बारिश कुछ ज्यादा ही मेहरबान है, प्रदेश के करीब 32 जिलों में पानी का कहर जारी है, जिसके चलते एमपी के बांधों के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए गेट खोले दजा रहे है. ऐसा ही कुछ नजारा बरगी डेम का है, कैचमेंट एरिया में हो रही लगातार बारिश के चलते बरगी बांध के गेट कम करने या बंद करने की स्थिति नहीं बन पा रही है. एक दिन पहले शनिवार को बरगी बांध के 11 गेट खुले रहे, लेकिन कैचमेंट एरिया में हो रही बारिश के चलते गेट की संख्या बढ़ा आज सुबह गेटों की संख्या 15 कर दी गई.

अब 15 गेट से 151890 क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा है. गेट की संख्या बढऩे के साथ साथ नर्मदा के घाटों पर जलस्तर एक बार फिर बढ़ गया है, जिसे देखते ही सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहीं रविवार होने के कारण आज लोग परिवार सहित बरगी डेम का नजारा देखने के लिए सुबह से पहुंचने लगे थे. बांध के आसपास भीड़ को देखते ही पुलिस बल तैनात किया गया है, यहां तक कि छोटे पुल से लोगों को जाने से रोका जा रहा है. गौरतलब है कि नवरात्र के वक्त भी हो रही बारिश ने लोगों को परेशान कर दिया है, उन्हे इस बात की चिंता सता रही है कि कहीं नवरात्र का त्यौहार भी पानी पानी न हो जाए. हालांकि मौसम विभाग का कहना है कि एमपी में चार-पांच दिनों और भी जोरदार बारिश हो सकती है.