Loading...

SDOP पाठक का एक और वीडियो वायरल, दरबार लगाकर रेत माफिया से हो रही है वसूली | JABALPUR NEWS

जबलपुर। जिले के पाटन डिवीजन में पदस्थ एसडीओपी एसएन पाठक (SDOP SN Pathak) का एक और वीडियो वायरल (Video viral) हुआ है। वायरल वीडियो में वे दरबार लगाकर रेत माफिया (Sand mafia) से वसूली कर रहे हैं। वायरल हुए वीडियो में जिस कक्ष में एसडीओपी बैठे हैं वहाँ पर कुछ रेत माफिया के लोग जमा हैं जिनसे हर खेप का लेखा-जोखा माँगा जा रहा है और उसके बदले तय रकम वसूली जा रही है। 

वसूली का वीडियो वायरल होने पर एसपी ने इस कृत्य को गंभीर कदाचरण मानते हुए एसडीओपी की रिपोर्ट भोपाल भेजी है। वहीं वीडियो में नजर आने वाले सिपाही देवेंद्र जाट को निलंबित (Constable Devendra Jat suspended) कर दिया गया है। ज्ञात हो कि पाटन एसडीओपी का जो वीडियो जारी हुआ थे उसमें किसी रेत माफिया से चर्चा का ब्यौरा था और हर माह की 19 तारीख को दी जाने वाली सवा लाख की राशि का जिक्र किया जा रहा था। इस वीडियो में रेत माफिया का पूरा चिठ्ठा एक डायरी में नोट किया जा रहा था और किस वाहन से कितनी रकम लेना है, कितनी रकम बाकी है बाकायदा  इसकी एंट्री की जा रही थी। वहीं दूसरे वीडियो में लेन-देन की चर्चा की जा रही है एवं रेत माफिया के गुर्गों से पुरानी बकाया किश्त ली जा रही है। इस रकम को लेकर गिनती करते हुए एसडीओपी साफ नजर आ रहे हैं।

एसडीओपी की वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस मोहकमे में मची खलबली के बाद वीडियो का प्रारंभिक परीक्षण किए जाने व एसडीओपी एसएन पाठक के बयान दर्ज कर एसपी अमित सिंह द्वारा कदाचरण संबंधी जाँच प्रतिवेदन रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय भोपाल भेजी गयी है। उक्त रिपोर्ट के आधार पर मुख्यालय से कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।

एसडीओपी का जो वीडियो वा किया  यरल हुआ है उसमें सिपाही देवेंद्र जाट थाना शहपुरा (Devendra Jat Police Station Shahpura) भी नजर आ रहा है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी द्वारा सिपाही को रेत माफिया से पैसे लेकर अवैध उत्खनन एवं परिवहन के लिए एसडीओपी को पैसे देते हुए नजर आने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर लाइन अटैच किए जाने के आदेश जारी किए गए हैं।