Loading...

TEJAS TRAIN का नया टाइम टेबल, देश की सबसे पहली प्राइवेट ट्रेन

रेल समाचार डेस्क​। नई दिल्ली (NEW DELHI RAILWAY STATION) से लखनऊ (LUCKNOW RAILWAY STATION) तक जाने वाली देश की पहली प्राइवेट तेजस एक्सप्रेस (TEJAS TRAIN) अब गाजियाबाद रेलवे स्टेशन (GHAZIABAD RAILWAY STATION) पर दो मिनट के लिए रुकेगी। इंडियन रेलवे ने हाल ही में एक सर्वे किया था, जिसके बाद इस ट्रेन को गाजियाबाद में भी स्टॉपेज दिया गया है। तेजस ट्रेन नई दिल्ली से चल कर लखनऊ तक जाएगी। पहले इस ट्रेन का स्टॉपेज सिर्फ कानपुर स्टेशन ही था, लेकिन रेलवे बोर्ड के नए सर्कुलर के बाद यह ट्रेन अब गाजियाबाद में भी दो मिनट के लिए रुकेगी।

तेजस ट्रेन का टाइम-टेबल बदला | TEJAS TRAIN TIME TABLE CHANGE 

इंडियन रेलवे ने हाल ही में एक सर्वे में पाया था कि तेजस ट्रेन से यात्रा करने वाले अधिकांश पैसेंजर्स गाजियाबद में ट्रेन का स्टोपेज देने की मांग कर रहे थे। इस ट्रेन में सवारी करने वाले ज्यादातर यात्री गाजियाबाद की तरफ से ही आने वाले हैं। ऐसे में भारतीय रेलवे ने कानपुर के बाद गाजियाबाद में भी इसका स्टोपेज बनाया है। तेजस ट्रेन का गाजियाबाद में रुकने के बाद अब नोएडा एवं गाजियाबाद के नजदीक रहने वाले लोगों को दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा। बीते 13 अगस्त को ही रेलवे बोर्ड ने इसके लिए सर्कुलर जारी कर दिया है।

इंडियन रेलवे ने तेजस ट्रेन का नया शेड्यूल भी जारी कर दिया है। तेजस ट्रेन की पहले की टाइमिंग में भी अब फेरबदल कर दिया गया है। अब यह ट्रेन लखनऊ से 40 मिनट पहले सुबह 6.10 बजे चलेगी। साल 2016 में जब तेजस ट्रेन का टाइम-टेबल जारी किया गया था तो लखनऊ जंक्शन से इसके रवाना होने का समय सुबह 6.50 बजे था। नए शेड्यूल के मुताबिक अब यह ट्रेन 40 मिनट पहले सुबह 6.10 बजे रवाना होगी।

तेजस ट्रेन का नया टाइम टेबल | TEJAS TRAIN NEW TIME TABLE 

तेजस ट्रेन अब नई दिल्ली रेलवे स्टेशन 12.25 मिनट पर पहुंचेगी। लखनऊ से चलकर गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर सुबह 11.43 बजे पहुंचेगी और 11.45 दिल्ली के रवाना होगी। पहले के टाइमिंग के मुताबिक दिल्ली दोपहर 1.20 बजे पहुंचने का समय था। इसी तरह नए टाइम-टेबल के मुताबिक अब तेजस नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से शाम 4.30 चल कर रात 10.45 बजे लखनऊ पहुंचेगी। शाम 5.10 बजे गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी और 5.12 बजे लखनऊ के लिए रवाना होगी।

केवल कन्फर्म टिकट ही जारी होंगे

इसके साथ ही तेजस एक्सप्रेस में अब केवल कन्फर्म टिकट ही जारी होंगे। सीटें खाली होने पर ट्रेन छूटने के दो मिनट पहले तक आईआरसीटीसी के करंट काउंटर से टिकट जारी होगा। चलती तेजस ट्रेन में टीटीई को टिकट बनाने का अधिकार नहीं होगा। लखनऊ-दिल्ली रूट पर तेजस देश की ऐसी पहली ट्रेन होगी, जिसमें परिचालन, सिग्नल और पार्सल बुकिंग का अधिकार रेलवे के पास होगा। बाकी सारा काम आईआरसीटीसी के अधीन होगा।

इंडियन रेलवे के मुताबिक इस ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को खानपान के नाम पर वंदेमातरम, शताब्दी एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों से अधिक चार्ज चुकाना पड़ेगा, लेकिन इसमें दूसरी ट्रेनों की तुलना में अधिक प्रकार के व्यंजन परोसे जाएंगे। खान-पान का चार्ज भी टिकट में ही जुड़ा होगा। इस ट्रेन में अलग से खानपान के लिए यात्रियों को पैसा देने की जरूरत नहीं होगी. भारतीय रेलवे ने आईआरसीटीसी को ये ट्रेनें पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर तीन साल के लिए लीज पर दी है।