राजू जासूस नहीं मेरा बेटा है: पाकिस्तान में पकड़े युवक की मां ने कहा | MP NEWS

इंधावड़ी (खंडवा)। पांच दिन पहले पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में पकड़े गए खंडवा जिले के इंधावड़ी निवासी राजू लक्ष्मण भील की मां बसंताबाई का रो-रोकर बुरा हाल है। उसकी एक ही रट है कि मेरा बेटा जासूस नहीं है। उसे तो अच्छे-बुरे की समझ भी नहीं है। बसंता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि मेरा बेटा भले ही विक्षिप्त है, लेकिन उसे वापस मेरी झोली में डाल दो। बसंता पाकिस्तानी मीडिया द्वारा प्रकाशित फोटो देखकर बार-बार रो पड़ती है। 

2500 की आबादी वाले गांव में ग्रामीणों के हाथ में यही फोटो दिख जाएगी। गाड़ियों की आवाज सुनकर राजू की मां बसंता, पिता लक्ष्मण भील, भाई दिलीप झोपड़े से बाहर आए। बोले- वह तो विक्षिप्त है। 15 साल से कुछ नहीं कर रहा है। हमने उसकी शादी भी करवाई थी, लेकिन उसकी पागलपन की हरकतों की वजह से पत्नी भी छोड़कर चली गई।  बेटा एक बार वापस आ जाए फिर उसे गले से लगाकर रखूंगी। उसे अब कहीं भी जाने नहीं दूंगी। तीन-चार महीने से उसे देखा नहीं है।

राजू के घर पुलिस : 

रविवार शाम को नर्मदानगर थाना के सब इंस्पेक्टर दो पुलिसकर्मियों के साथ राजू के घर पहुंचे। उन्होंने बसंताबाई से पूछताछ की।

मंत्री बाेलीं- विदेश मंत्रालय से बात करेंगे : 

गांव वालाें ने प्रधानमंत्री से राजू काे वापस लाने की अपील की है। मुख्यमंत्री के माध्यम से भारत सरकार व विदेश मंत्रालय से बात करेंगे कि वह हमारे क्षेत्र के युवक को सही सलामत भारत वापस लेकर आए। - विजय लक्ष्मी साधौ, चिकित्सा शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री