Loading...

HOSHANGABAD शहर नर्मदा में समाता जा रहा है, सड़कों पर बाढ़ का पानी

होशंगाबाद। नर्मदा नदी का पानी किनारों की सीमाएं तोड़कर शहर में घुस आया है। अब शहर और नदी के बीच का अंतर खत्म होता जा रहा है। पानी लगातार बढ़ रहा है और शहर का एक हिस्सा नर्मदा नदी में समाता जा रहा है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में होशंगाबाद में और तेज बारिश होने की चेतावनी दी है। यदि चेतावनी सही साबित हुई तो आधा शहर नदी की बाढ़ में डूबा नजर आएगा। 

तवा किनारे वालों को घर खाली कर जान बचाने की सलाह

वहीं दूसरी तरफ लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। इसके अलावा बारिश के कारण तवा डैम का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है। इसे देखते हुए आगामी दिनों में प्रशासन द्वारा तवा डैम से पानी छोड़े जाने को लेकर तवा बांध और तवा नदी के पानी से प्रभावित होने वाले निवासियों को सुरक्षित स्थान पर जाने की सलाह दी गई है।

बस 5 फीट पानी भरा तो गेट खुल जाएंगे

लिहाजा, प्रशासन ने डैम से पानी छोड़े जाने को लेकर वायरलेस पर अलर्ट जारी कर दिया है। इसमें संबंधित अधिकारियों को सुरक्षा एवं अन्य एहतियातन उपाय जुटाने के निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि तवा बांध का जल स्तर 1155 फीट तक पहुंच गया है। ऐसे में डैम का जल स्तर 1160 फीट होने पहुंचने के बाद तवा बांध के गेटों से पानी छोड़ा जाना संभावित है।

15 अगस्त से पहले भी छोड़ सकते हैं

बांध प्रबंधन के मुताबिक उपरी क्षेत्र में बारिश होने के कारण बांध के जल स्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। ऐसे में आने वाले 2-3 दिनों में बांध का जल स्तर 1160 फीट होने की संभावना जताई गई है। नियम के अनुसार 15 अगस्त को बांध का जल स्तर 1160 फीट रखा जाना निर्धारित है। अगर 15 अगस्त से पहले बांध का जल स्तर 1160 फीट हुआ तो तवा बांध के गेटों से पानी छोड़ दिया जाएगा।

कलेक्टर ने जारी किए निर्देश

ऐसी स्थिति निर्मित होने की संभावना को ध्यान में रखते हुए तवा बांध और तवा नदी के पानी से प्रभावित होने वाले दोनों तटीय क्षेत्रो में निवासरत लोगों को तटीय क्षेत्र से दूर जाने और सभी सब डिवीजन में जरूरी इंतजाम के निर्देश कलेक्टर ने जारी किए हैं।