Loading...

ग्वालियर में आंगनबाड़ी केंद्रों की शिकायत सुझाव के लिए वॉट्सएप नम्बर जारी | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों के बेहतर संचालन के लिए दिए गए दिशा-निर्देश के परिपालन में महिला एवं बाल विकास विभाग ग्वालियर द्वारा एक वॉट्सएप नम्बर सार्वजनिक किया गया है। इस वॉट्सएप नम्बर पर कोई भी व्यक्ति आंगनबाड़ी केन्द्र के संचालन के संबंध में फोटो एवं जानकारी भेज सकता है। प्राप्त जानकारी के आधार पर आंगनबाड़ी केन्द्रों की व्यवस्थाएं व्यवस्थित की जायेंगीं। 

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास राजीव सिंह ने बताया कि ग्वालियर जिले में वॉट्सएप नम्बर 8305272254 निर्धारित किया गया है। इस वॉट्सएप नम्बर पर कोई भी व्यक्ति आंगनबाड़ी केन्द्र की अव्यवस्थाओं एवं केन्द्र के खुलने, कार्यकर्ता एवं सहायिका की उपस्थिति एवं भोजन की गुणवत्ता के संबंध में जानकारी एवं फोटो भेज सकता है। इस वॉट्सएप ग्रुप से महिला एवं बाल विकास मंत्री, प्रमुख सचिव, विभागीय आयुक्त एवं संभाग व जिले के विभागीय अधिकारी जुड़े रहेंगे। इस पर प्राप्त जानकारी के आधार पर आंगनबाड़ी केन्द्र के बेहतर संचालन के लिए सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जायेंगीं। 

कार्यक्रम अधिकारी राजीव सिंह ने बताया कि महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी द्वारा गत दिवस जिले के घाटीगाँव एवं भितरवार विकासखण्ड की विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण के दौरान दिए गए निर्देशों के परिपालन में विभाग द्वारा प्रभावी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है। निरीक्षण के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती कृष्णा भार्गव एवं सहायिका श्रीमती सीमा को पद से पृथक करने की कार्रवाई हेतु नोटिस जारी कर दिए गए हैं। इसके साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्र बाजना कॉलोनी एवं सिडनी का पुरा हरसी में पोषण आहार वितरण में अनियमितता पाए जाने पर समूह को हटाने के निर्देश दिए गए थे। समूह को हटाने की कार्रवाई हेतु जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के माध्यम से कार्रवाई की जा रही है। 

निरीक्षण के दौरान मंत्री श्रीमती इमरती देवी द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती चंद्रकला रावत को पुरस्कृत करने के निर्देश भी जारी किए गए थे। इसके लिए विभागीय स्तर पर कार्रवाई की जा रही है। आंगनबाड़ी केन्द्रों के नियमित निरीक्षण के निर्देश के परिपालन में विभागीय स्तर पर परियोजना अधिकारियों को नियमित निरीक्षण करने के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। आंगनबाड़ी केन्द्रों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिला स्तर पर आम जनों की भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु वॉट्सएप नम्बर भी सार्वजनिक किया गया है।