Loading...

BHOPAL में विदेशी कॉलगर्ल्स के साथ INDORE के कपिल, ASHOKNAGAR के सुयोग पकड़े

भोपाल। क्राइम ब्रांच टीम ने मंगलवार को पुराने शहर के कोहेफिजा के बीडीए कॉलोनी के एक मकान पर दबिश देकर सेक्स रैकेट का खुलासा किया। क्राइम ब्रांच ने मौके से दो ग्राहकों के साथ आपत्तिजनक हालत में तीन विदेशी कॉलगर्ल्स और एक दलाल को गिरफ्तार किया। इनमें से दो कालगर्ल्स उज्बेकिस्तान की हैं, जबकि एक नेपाली युवती है। उज्बेकिस्तान की युवतियां टूरिस्ट वीजा पर भारत पहुंची थीं। आरोपित महिलाओं के पास फर्जी वोटर आईडी और पैन कार्ड भी पुलिस ने बरामद किए हैं। 

इंदौर के कपिल पटेल और अशोकनगर के सुयोग जैन पकड़े गए

क्राइम ब्रांच के एएसपी निश्चय झारिया के अनुसार कोहेफिजा इलाके में लंबे समय से देहव्यापार की शिकायत मिल रही थीं। मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच की टीम ने सोमवार देर रात कोहेफिजा स्थित बीडीए कालोनी के एक फ्लैट में दबिश दी। जहां से वैभव अपार्टमेंट आईडीए कॉलोनी इंदौर निवासी कपिल पटेल (37) और गल्ला मंडी रोड अशोक नगर निवासी सुयोग जैन (35) को देह व्यापार में लिप्त महिलाओं के साथ पकड़ा गया। वहीं, मकान में मौजूद एक नेपाल मूल की यूवती और दलाल जॉन मसीह(27) को भी गिरफ्तार कर लिया गया।जॉन ही सैक्स रैकेट चलवा रहा था और वह ही पूरी व्यवस्था करता था।

विदेशी कॉलगर्ल्स भारत कैसे आतीं हैं

क्राइम ब्रांच की पूछताछ में विदेशी मूल की इन महिलाओं पुलिस को बताया कि वह 15-15 दिनों के टूरिस्ट वीजा पर भारत आती हैं। जिसके बाद वह दिल्ली, मुंबई, गोवा समेत बडे्र शहरों में डिमांड चली जाती हैं। हाल ही में यह दिल्ली से भोपाल पहुंची थी। दिल्ली से भोपाल बकायदा फ्लाइट से से भेजा गया था। यहां से उन्हें कहां जाना है, इसके निर्देश भी उन्हें मोबाइल पर मिल जाते।

विदेशी कॉलगर्ल्स के पास फर्जी आधारकार्ड क्यों मिले

उज्बेकिस्तान की युवतियों के पास से भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारी जारी वोटर आईडी कार्ड बरामद किए गए हैं। जिनमें फोटो युवतियां का है, लेकिन नाम किसी अन्य युवतियों के हैं। पैन कार्ड पर इन युवतियों के फर्जी नाम लिखे हैं।पुलिस की शुरूआती जांच में खुलासा हुआ है कि इन फर्जी आईडी का उपयोग देह व्यापार में लिप्त यह महिलाएं होटलों में रूकने के लिए करती थी।