16 अगस्त से सिंह के शुक्र: पढ़िए आपकी राशि पर क्या असर पढ़ेगा | SHUKRA SINGH RASHI PARIVARTAN

ज्योतिष में शुक्र ग्रह को स्त्री ग्रह माना गया है। शुक्र ग्रह से प्रभावित व्यक्ति सौम्य एवं अत्यंत सुंदर होते है। यदि किसी की कुंडली में शुक्र शुभ प्रभाव देता है तो वह जातक आकर्षक, सुंदर और मनमोहक होता है। शुक्र के विशेष प्रभाव से वह जीवनभर सुखी रहता है। शुक्र को पति-पत्नि, प्रेम संबंध, ऐश्वर्य, आनंद आदि का भी कारक ग्रह माना गया है। 

शुक्र अपने प्रभाव से व्यक्ति को मकान और वाहन आदि का भी सुख देता है। शुक्र को सुन्दरता का प्रतीक माना जाता है। सुख का कारक माना जाता है। शुक्र की चमक एवं शान अन्य ग्रहों के अलग व निराली है। इसी सुन्दरता के लिए शुक्र जाना जाता है। शुक्र की आराधना कर शुक्र को बलवान बनाकर सुख व ऐश्वर्य पाया जा सकता है। शुक्रवार 16 अगस्त को रात 8 बजकर 23 मिनट पर शुक्र सिंह राशि में आकर मंगल से मिलेंगे। शुक्र इस राशि में 10 सितंबर तक रहेंगे। आइए जानते हैं इस अवधि में विभिन्न 12 राशि वाले मनुष्यों पर शुक्रदेव का क्या प्रभाव नजर आएगा। 

मेष 
मेष राशि में शुक्र पंचम भाव में गोचर करेगा। इससे आपके प्रेम संबंधों में मिठास आएगी। अगर आप अभी तक सिंगल हैं या फिर किसी से प्‍यार में नहीं पड़े हैं तो शुक्र के गोचर से प्‍यार की शुरुआत हो सकती है। या फिर किसी से प्‍यार करते हैं तो फिर शादी की बात चल सकती है। बहरहाल छात्रों को शिक्षा में सफलता के लिए अभी और प्रयास करना होगा। हो सकता है कि पढ़ाई में मन भी न लगे। संतान की ओर से भी सुखद समाचार मिलेगा।

वृषभ 
शुक्र आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। कार्यक्षेत्र में भी परिस्थितियां आपके अनुकूल होंगी। आर्थिक परेशानियां भी दूर होंगी। समाज में मान-प्रतिष्‍ठा में वृद्धि होगी। चल-अचल संपत्ति में वृद्धि होगी। माता का स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहेगा। आपके अपनी माता के साथ संबंध और भी मधुर होंगे। उनके आर्शीवाद से आप कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं।

मिथुन 
शुक्र आपकी राशि से तृतीय भाव में जाएगा। कुंडली में तीसरे घर को पराक्रम भाव कहते हैं। आपके लिए शुक्र का यह गोचर दांपत्‍य जीवन सुख लाएगा। किसी के साथ प्रेम के रिश्‍ते में हैं तो रिश्‍ते और भी ज्‍यादा प्रगाढ़ होंगे। लेकिन लव पार्टनर से किसी बात पर बहस भी हो सकती है। कोशिश करें कि ऐसी स्थिति में खुद को शांत रखें। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह समय सुखद रहेगा। वह मन लगाकर पढ़ाई करेंगे।

कर्क 
शुक्र आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर करेगा। धन स्थान में शुक्र का यह गोचर आय में व‍ृद्धि करवाएगा। कहीं से आपको अचानक लाभ भी मिल सकता है। आप भविष्‍य के लिए कुछ सेविंग्‍स भी कर सकेंगे। कोई रुकी हुई योजना भी शुरू हो सकती है। इसके अलावा संवाद शैली में भी सुधार आएगा। घर परिवार में किसी समारोह का भी आयोजन हो सकता है। पढ़ाइ लिखाई में छात्रों की अरुचि बढ़ेगी।

सिंह 
शुक्र का यह गोचर आपकी राशि में हो रहा है। इस गोचर के दौरान आप जिन क्षेत्रों में भी प्रयास करेंगे उनमें आपको सफलता मिलती रहेगी। आपका मनोबल बढ़ेगा। आपके व्‍यक्तित्‍व में सकारात्‍मक बदलाव देखने को मिलेंगे। इससे लोग आपकी ओर आकर्षित होंगे। भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। आप खुद के लिए भी कुछ ऐसा करेंगे जिससे आपको खुशी मिलेगी। शादी-शुदा हैं तो दांपत्‍य जीवन में सुधार होगा । कला, संगीत, लेखन और अभिनय के क्षेत्र से जुड़े लोगों को लाभ मिलेगा।

कन्‍या 
शुक्र आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर करेगा। यह व्‍यय भाव कहलाता है। यानी कि व्‍यय अधिक होगा। भोग-विलास में मन लगेगा जिससे अनावश्‍यक रूप से धन खर्च होता जाएगा। करियर में किसी नए अवसर के लिए आप लंबी यात्रा कर सकते हैं। जीवनसाथी की सेहत को लेकर चिंतित होंगे।

तुला 
शुक्र आपकी राशि से एकादश भाव में संचार करेगा जिससे आपके जीवन में कई प्रकार की उपलब्धियों का योग बनेगा। जीवन में खुशहाली और समृद्धि होगी। जो भी कार्य करेंगे, उसमें सफलता मिलने का योग है। दिल की कोई मुराद पूरी हो सकती है। विपरीत लिंग के जातकों से मदद मिलेगी। प्रेम संबंधों में प्‍यार और बढ़ेगा। किसी समाजिक समारोह में जाने का योग है। दोस्‍तों व रिश्‍तेदारों के संग अच्‍छा समय बीतेगा। दांपत्‍य जीवन सुखमय होगा। किसी नए रिश्‍ते का आगमन हो सकता है।

वृश्चिक 
शुक्र आपकी राशि से दशम् भाव में गोचर करेगा। ज्‍योतिष में दशम भाव करियर, रुतबा, राजनीति और पिता की स्थिति की व्‍याख्‍या करता है। शुक्र के कर्म भाव में गोचर से आपको कार्यक्षेत्र में जबरदस्‍त लाभ होगा। आपके कार्यक्षेत्र का भी दायरा बढ़ेगा। किसी विदेशी कंपनी के साथ डील भी फाइनल हो सकती है। जीवनसाथी से पूर्ण सहयोग मिलेगा। निजी संबंध प्रगाढ़ होंगे।

धनु 
शु्क्र आपकी रााशि से नवम भाव में गोचर करेगा इससे भाग्‍य का पूरा साथ मिलेगा। धर्मिक स्थाल की यात्रा कर सकते हैं। शुभ फलों की प्राप्ति होगी। विद्यार्थियों को गुरुजनों का आर्शीवाद मिलेगा। अपने सिद्धांतों को आगे रखेंगे और उन्‍हीं के अनुसार कार्य करेंगे। धार्मिक और आध्‍यात्मिक कार्य को करने से मन प्रसन्‍न रहेगा। पिता एवं वरिष्ठजनों के सहयोग से आनंदित होंगे।

मकर 
शुक्र आपकी राशि से अष्‍टम भाव में संचार करेगा इससे जीवन में कुछ उतार-चढ़ाव आएगा। अचानक से कोई घटना या फिर कुछ रहस्‍यों के उजागर होने का योग है। गोचर के प्रभाव से आपका मन भौतिक सुखों के प्रति आकर्षित होगा। मन में काम भाव बढेगा, नियंत्रण रखें। कार्यक्षेत्र में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन ईमानदारी, मेहनत और लगन से काम करेंगे तो इन परेशानियों से निजात मिल सकती है।

कुंभ 
शुक्र आपकी राशि से सप्‍तम भाव में प्रवेश करेगा। वैवाहिक जीवन में मधुरता आएगी। जीवनसाथी और आपके बीच सामंजस्‍य की स्थिति बनेगी। आपके बीच प्रेम ही प्रेम होगा। निजी जीवन में सकारात्‍मकता आएगी। इसके अलावा प्रेम में हैं तो आपके लव पार्टनर के प्रति कुछ ज्‍यादा ही आकर्षित होंगे। किसी के साथ साझेदाारी में व्‍यापार कर रहे हैं तो आपको उम्‍मीद से बहुत ज्‍यादा मुनाफा होने का योग बन रहा है। विपरीत लिंग के जातकों की मदद से आप अपने लक्ष्‍य को पाने में कामयाब होते नजर आएंगे।

मीन 
शुक्र आपकी राशि से षष्‍टम भाव में गोचर करेगा। अपने कार्यों के प्रति थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है। सेहत के दृष्टिकोण से शुक्र का गोचर आपके लिए ठीक नहीं है। ऐसी स्थिति में आपको अपनी सेहत का खास ख्‍याल रखना पड़ेगा। कार्यक्षेत्र में भी विपरी‍त स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। कोई आपको साजिशन फंसा सकता है। ऐसे में ध्‍यान रहे कि आप हर कदम सोच-समझकर उठाएं और किसी पर यूं ही आंखें बंद करके भरोसा न करें। प्रतियोगी परीक्षाओं में अभी और मेहनत करनी पड़ेगी। वैवाहिक जीवन में तालमेल बनाकर चलने की जरूरत है। एक-दूसरे की बातों को ध्‍यानपूर्वक सुनें।