Loading...

बॉल तलाशने उद्योगपति की बाउंड्री पर चढ़े छात्र को गोली मारी | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश के गोरखनाथ क्षेत्र के विकास नगर में रहने वाले उद्योगपति चंद्र प्रकाश अग्रवाल उर्फ चंदू बाबू के घर की बाउंड्री पर चढ़े एक छात्र को गोली मार दी गई। वो पास के मैदान में क्रिकेट खेल रहा था और बॉल उद्योगपति के घर की तरफ आ गई थी। छात्र बॉल को तलाशने के लिए बाउंड्री पर चढ़ गया था। 

क्या हुआ घटनाक्रम

बताते हैं कि उद्योगपति के आवास के पास मैदान में क्रिकेट खेल रहे बच्‍चों की गेंद आवास के अंदर चली गई थी। उसे खोजने के लिए छात्र अरविंद कुमार को उनके आवास की बाउंड्री पर चढ़ा था कि तभी अचानक गोली चली और छात्र के सिर में घुस गई। घायल के पिता संतराज की तहरीर पर पुलिस ने बाडीगार्ड के विरुद्ध हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना प्रयुक्त बंदूक पुलिस ने बरामद कर ली है।

उद्योगपति के घर पर गुस्साई भीड़ का हमला

युवक को गोली मारने के बाद से बाडीगार्ड फरार बताया जा रहा है, हालांकि स्थानीय लोग उसके उद्योगपति के आवास में छिपे होने का दावा कर रहे हैं। घटना से आक्रोशित बड़ी संख्या में महिलाएं और ग्रामीण, उद्योगपति के आवास में घुसने की कोशिश करने लगे। क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ ने मुकदमा दर्ज करने, आरोपित बाडीगार्ड जल्द गिरफ्तार करने और घायल युवक के इलाज की समुचित व्यवस्था करने का आश्वासन देकर किसी तरह से ग्रामीणों को शांत कराया।

विश्वविद्यालय से लौटते समय खेल में हुआ शामिल

अरविंद ने इसी साल इंटर की परीक्षा पास की थी। बीए में पढ़ाई करने के लिए विश्वविद्यालय में एडमीशन के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा भी दी थी। सोमवार को वह एडमीशन की स्थिति का पता लगाने के लिए विश्वविद्यालय गया था। शाम को घर लौटते समय गांव के ब'चों को क्रिकेट खेलता देख वह भी शामिल हो गया। अभी कुछ देर ही खेला था कि यह घटना हो गई।

पिता परचून की दुकान चलाते हैं

अरविंद के पिता संतराज को पैर में काफी पहले चोट लग गई थी, तभी से वह चलने-फिरने में असमर्थ हैं। परिवार का भराण-पोषण करने के लिए गांव में ही परचून की दुकान चलाते हैं। छह भाई-बहनों में अरविंद सबसे छोटा था। चार बहनों में एक की शादी हो चुकी है। अरविंद पढ़ाई करने के साथ ही दुकान चलाने में पिता की मदद भी करता था।

उद्योगपति ने कहा: कुछ लोग बाउंड्री कूदकर घर में घुस आए थे

घटना के संबंध में अपना पक्ष रखते हुए उद्योगपति चंद्र प्रकाश अग्रवाल ने कहा कुछ लोग उनके आवास गैलेंट हाउस की दीवार काटकर और फांदकर अंदर आ गए थे। उन्हें भगाने के लिए गार्ड ने हवाई फायरिंग की थी। इस दौरान एक व्यक्ति को गोली लग गई। घटना के बाद से ही गार्ड फरार है।

उद्योगपति ने बताया कि घटना की जानकारी होते ही मैंने वरिष्ठ कर्मचारियों से घायल को मेडिकल कॉलेज भेजा। वहां से उसे लखनऊ रेफर किए जाने पर तत्काल एंबुलेंस का इंतजाम कर लखनऊ ले जाने की व्यवस्था कराई। लखनऊ स्थित अपने कार्यालय के कर्मचारियों को घायल के उपचार की समुचित व्यवस्था कराने तथा हर जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया हूं। उपचार में किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। सारा खर्च वह खुद उठाएंगे। घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उन्होंने इस पर अफसोस जाहिर किया है।