अध्यापक संवर्ग की सेवा शर्तों की समीक्षा | MP RAJYA SCHOOL SHIKSHA SEVA

संतोष सोनी। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ जिला अध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि विगत 21 जुलाई को प्रांतीय अध्यक्ष भरत पटेल के नेतृत्व में अध्यापकों ने जो शाहजहानी पार्क भोपाल में अपना प्रदर्शन कर सरकार पर दबाव बनाया। उसके परिणाम स्वरूप अध्यापक संवर्ग की शिक्षक संवर्ग में संविलियन की सेवा शर्ते विभाग द्वारा जारी कर दी गई। 

जारी की गई सेवा शर्तों में अध्यापक संवर्ग को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता की पात्रता होगी क्रमोन्नति पदोन्नति में अध्यापक संवर्ग में की गई सेवा की गणना एवं शिक्षा कर्मी संविदा काल में की गई सेवा की गणना को सम्मिलित किया जाएगा। सातवें वेतनमान के निर्देश भी छठवें वेतनमान के विद्यमान वेतन से निर्धारण करने हेतु आदेश जारी किए गए सातवें वेतनमान में निर्धारित किए गए वेतन का अनुमोदन वेतन पुनरीक्षण नियम 2017 के प्रावधान के अनुसार किया जाना आवश्यक होगा। 

कर्मचारियों को ट्रेजरी एम्पलाई कोड के माध्यम से होने वाले वेतन में एचआरए बीमा ट्राईबल एलाउंस अध्यापकों के वेतन में होने लगेगा अध्यापकों की स्थानांतरण पॉलिसी भी अब शिक्षकों के समान होगी। अध्यापक संवर्ग के लिए खुशी की बात यह है कि अब उन्हें भी ग्रेजुएटी की पात्रता रहेगी ।ग्रेजुएटी के लिए नियमित संवर्ग में 5 वर्ष निरंतर सेवा का प्रावधान है। जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि अध्यापक संवर्ग को समस्त अवकाश, मेडिकल क्लेम ,यात्रा भत्ता आदि सभी की पात्रता होगी।

स्वत्तों का कैसे होगा भुगतान 

अध्यापक संवर्ग दिनांक 1 जनवरी 2016 से छठवां वेतनमान स्वीकृत किया गया है तथा दिनांक 1 जुलाई 2016 से इस का नगद भुगतान स्वीकृत है दिनांक 1 जनवरी 16 से दिनांक 30 जुलाई 2017 के एरियर की राशि दिनांक 1-4-2018 से प्रारंभ कर तीन वित्तीय वर्षों में भुगतान किए जाने के निर्देश है। वर्तमान में छठवें वेतनमान के एरियर की दिनांक 1 अप्रैल 2018 को देय प्रथम किस्त के आहरण की प्रक्रिया प्रचलित है। 

इसमें स्पष्ट किया गया है कि भर्ती नियम 2018 में नियुक्ति के फल स्वरुप अध्यापक संवर्ग को छठवें वेतनमान की प्रथम किस्त की राशि यदि शेष हो तो, द्वितीय एवं तृतीय किस्त की राशि पूर्व में की गई गणना एवं सेवा पुस्तिका में की गई प्रविष्टि अनुसार  देय होगी। 

भर्ती नियम 2018 के अनुसार नियुक्ति के फल स्वरुप समस्त शिक्षकों के डेटाबेस, पे -डाटाबेस तथा पोस्ट -डाटाबेस संचालनालय कोष एवं लेखा के सेंटर सर्वर पर संधारित किए जाएंगे इसके उपरांत शिक्षकों के वेतन भत्ते तथा अन्य स्वत्तों  का आहरण एवं कटौतियां कोषालय के माध्यम से की जाएंगी।