Loading...

INDORE NEWS : बदनामी का डर दिखाकर 6 लोगों ने नाबालिग के साथ कई बार किया दुष्कर्म

इंदौर। इंदौर में नाबालिग लड़की के साथ ऐसे चौंकाने वाले घटनाक्रम हुए कि उसके साथ लगातार दुष्कर्म की घटनाएं होती गई। सबसे पहले एक अधेड़ ने अश्लील वीडियो दिखाकर नाबालिग से ज्यादती की। इसकी जानकारी अधेड़ के बेटे को लगी तो उसने नाबालिग को बदनाम करने की धमकी दी और फिर वो भी ज्यादती करने लगा। 

इसके बाद एक दिन हॉस्टल के दोस्त से बात करने के लिए नाबालिग ने इलाके के युवक से फोन मांगा। दोस्त से उसकी बातचीत सुनकर उस युवक ने भी उसे धमकाया और दुष्कर्म किया। इसके बाद इस मोबाइल वाले युवक के छोटे भाई को नाबालिग से दुष्कर्म की बात पता चली, तो उसने भी धमकाकर नाबालिग से ज्यादती की। नाबालिग से शोषण का सिलसिला यहीं नहीं थमा। जब उसके शोषण की जानकारी उसके मुंहबोले मामा और उसके दोस्त को लगी तो ये दोनों शुक्रवार रात उसे घुमाने ले जाने के बहाने अपने घर ले गए और वहां सामूहिक दुष्कर्म कर डाला। आखिरकार नाबालिग ने इन तमाम घटनाक्रमों की शिकायत तुकोगंज पुलिस को की और पुलिस ने सभी 6 आरोपितों को गिरफ्तार किया।

मामला तुकोगंज थाना क्षेत्र के पंचम की फेल इलाके का है। शनिवार दोपहर करीब एक बजे 16 वर्षीय नाबालिग अपने पिता के साथ शिकायत करने थाने पहुंची थी। टीआई तहजीब काजी के मुताबिक, नाबालिग ने नरेश उर्फ नाना (47) पिता श्रवण खंडारे(Naresh father Shravan Khandare,) उसके बेटे निहाल (Nihal Khandare) (23), 15 वर्षीय नाबालिग, उसके भाई गौरव (GORAV)  (18) पिता अशोक अबाड़(Ashok Aabad) मुंहबोले मामा आलोक उर्फ मुन्ना (20) पिता नरेंद्र धवन (Alok alias Munna father Narendra Dhawan) और उसके दोस्त भरत उर्फ भुरू (20) पिता महेंद्र मुराड़िया (Bharat alias Bhuru father Mahendra Muradia) के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

पीड़िता ने महिला थानेदार को पूछताछ में बताया कि वर्ष 2015 में उसकी मां की मौत हो गई थी। इसके बाद उसने 10वीं की पढ़ाई छोड़कर अपनी छोटी बहन और पिता के साथ घर आकर रहने लगी थी। मां की मौत के पहले वह हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करती थी। बहन और पिता के साथ रहने के दौरान उसका परिचय क्षेत्र में ही रहने वाले आरोपित नरेश से हुई थी। वह उसके घर बच्चे के साथ खेलने जाती थी। इसी दौरान नरेश ने उसे अश्लील वीडियो दिखाया और शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाया। कई दिन बाद उसने अकेला पाकर ज्यादती की। इसकी जानकारी उसके वकालत की पढ़ाई कर रहे बेटे निहार को लग गई। उसने भी बाथरूम में ले जाकर दुष्कर्म किया।

कुछ दिन बाद नाबालिग ने अपने हॉस्टल के दोस्त से बात करने के लिए नरेश के नाबालिग भानजे से मोबाइल मांगा। भानजे ने अपने घर बुलाकर मोबाइल दे दिया। लड़की अपने हॉस्टल के दोस्त से बात कर रही थी। दोनों की बातचीत भानजे ने सुन ली। उसने धमकाया कि वह पूरी कॉलोनी में उसे बदनाम कर देगा। इसके बाद उसने भी ज्यादती की। इसके बाद उसने कई बार शारीरिक संबंध बनाए। इसकी जानकारी आरोपित के भाई गौरव को लग गई। उसने भी बदनाम करने की धमकी देकर नाबालिग से संबंध बना लिए।

टीआई के मुताबिक, नाबालिग के साथ हो रही ज्यादती की जानकारी उसके मुंहबोले मामा मुन्ना को पता चल गई थी। कुछ दिन पहले वह पीड़िता से मिला और धमकाने लगा। उसने कहा कि वह उसके पिता और रिश्तेदारों को बताकर बदनाम कर देगा। इसके बाद भी पीड़िता संबंध बनाने के लिए तैयारी नहीं हुई। इस पर मुन्ना शुक्रवार को अपने दोस्त भरत के साथ नाबालिग के घर गया। उसे बहला-फुसलाकर घुमाने ले जाने के लिए तैयार कर लिया। दोनों उसे अपने घर ले गए। दोनों के साथ नाबालिग को जाते हुए गौरव ने देख लिया था। मुन्ना ने अपने कमरे में दोस्त भरत के साथ मिलकर नाबालिग से गैंग रेप किया। जब नाबालिग वहां से लौटी तो आरोपित गौरव उसे रास्ते में मिल गया।

पुलिस के मुताबिक, आरोपित गौरव ने नाबालिग को जाता देख उसके घर पर ताला लगा दिया था। जब पीड़िता घर लौटी तो उसे गौरव रास्ते में मिल गया। उसने धमकाया कि अगर वह भरत और मुन्ना के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत नहीं करेगी तो वह सबको बताकर बदनाम कर देगा। नाबालिग उसकी शर्तों पर मुंहबोले मामा और उसके दोस्त भरत के खिलाफ केस दर्ज कराने को तैयार हो गई। इसके बाद गौरव ने उसके घर का ताला खोला। आरोपित गौरव ने नाबालिग के बयान की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली। जिसमें नाबालिग मुंहबोले मामा और भरत पर ज्यादती का आरोप लगा रही थी।

टीआई ने बताया कि गौरव ने शनिवार को नाबालिग का वीडियो दोस्तों को भेज दिया। दोस्त नाबालिग के पिता के पास गए और दोनों आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कराने का दबाव बनाने लगे। इसके बाद नाबालिग के पिता बेटी के साथ मुन्ना और भरत के खिलाफ केस दर्ज कराने गए थे। लेकिन जब महिला थानेदार ने काउंसलिंग की तो पता चला कि नाबालिग का 6 आरोपितों ने शारीरिक शोषण किया है। आरोपित नरेश कई नेताओं से जुड़ा हुआ है। उसने इलाके में मंदिर भी बनवाया है। नरेश ने चुनाव में कई नेताओं की आर्थिक मदद भी की है।