Loading...

पंचायत अधिकारी ने पड़ौसी पिता-पुत्र को गोली मारी, लाश को लात मारता रहा | HARPALPUR MURDER

हरपालपुर। रविवार की रात को थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 10 राजा कॉलोनी निवासी सहायक ग्रामीण विस्तार अधिकारी राकेश प्रकाश निरंजन ने पुरानी रंजिश को लेकर रविवार रात अपने भाई ओम प्रकाश निरंजन के साथ पड़ोसी पिता-पुत्र पर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से फायरिंग कर दी। घटना में पुत्र धर्मेंद्र सेन उम्र 26 वर्ष पिता मूलचंद्र सेन की मौके पर मौत हो गई। पिता की हालत नाजुक बताई जा रही है। गंभीर रूप से घायल पिता मूलचंद्र सेन को जिला चिकत्सालय छतरपुर के बाद सुबह 8 बजे ग्वालियर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया लेकिन हालात ज्यादा खराब होने से झाँसी के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है जहाँ इलाज चल रहा है।

मरने के बाद भी लाश में लात मारता रहा अधिकारी 

जानकारी के अनुसार सहायक ग्रामीण विस्तार अधिकारी राकेश निरंजन ने करीब 8 माह पहली पड़ोसी धर्मेंद्र सेन की पत्नी के साथ छेड़छाड़ की थी। इसकी शिकायत महिला ने थाने में की, लेकिन पीड़ित को राजनीतिक दबाव के चलते राजीनामा करना पड़ा था। तब से राकेश निरंजन धर्मेंद्र के परिवार से रंजिश मानने लगा। इसके चलते रविवार रात करीब 9 बजकर 30 मिनिट पर राकेश निरंजन अपने भाई ओपी निरंजन के साथ आया और घर के बाहर धर्मेंद्र सेन और उसके पिता मूलचंद्र सेन पर अपनी रिवॉल्वर से ताबड़तोड़ फायरिंग की। घटना में धर्मेंद्र सेन की मौके पर मौत हो गई। गोली मारकर धर्मेंद्र सेन को मौत के घाट उतारने के बाद भी आरोपियों का मन नही भरा तो गालियां देकर और मृत पड़े धर्मेंद्र को लात से मारते रहे। 

एक आरोपी गिरफ्तार, शेष फरार

मूलचंद्र सेन गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजन उन्हें स्वास्थ्य केंद्र ले गए, जहां से नौगांव के लिए रेफर किया गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने हालात को काबू करने की कोशिश की। रात करीब 11 बजे तक घायल की हालत नाजुक बताई जा रही थी। मौके से भाग रहे आरोपी राकेश निरंजन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है लेकिन घटना में शामिल अन्य आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर है।  

थाने के सामने शव रखकर प्रदर्शन किया


सोमवार सुबह मृतक धर्मेंद्र सेन के परिवार के लोगों ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को मिलते ही शव को थाने के सामने रख दिया गया डेढ़ घंटे थाने के सामने बैठकर परिजन शव को रखकर फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर शव को थाने के सामने रखकर विलाप करते रहे।

8 लोगों पर लगाए हत्या के आरोप

परिवारजनों का कहना है कि धर्मेंद्र सेन और पिता मूलचंद्र सेन को गोली मारने वालों में राकेश निरंजन, राकेश निरंजन की बेटी प्रियंका निरंजन, ओमप्रकाश निरंजन, सुशीला, रमा निरंजन, रिंकू निरंजन एवं निरंजन परिवार की बेटी माला निरंजन व उसके पति शामिल हैं। मृतक के परिजन इन आठ लोगो के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए सड़क पर रोते बिखलते रहे परिजन व पत्नी 8 माह के बच्चे को लेकर पति की लाश से लिपटकर विलाप करती रही। परिजनों की मांग थी सभी आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो सभी आरोपियों को गिरिफ्तार कर जेल भेजा जाए। 

आरोपी महिलाओं को अभिरक्षा में लिया


आरोपी महिला रमा निरंजन और प्रियंका निरंजन को पुलिस अभिरक्षा में थाने में बैठा लिया है और एसपी ने बताया कि आरोपी राकेश निरंजन को गिरिफ्तार कर लिया है और रिवाल्वर को जब्त कर लिया है। घायल मूलचंद्र सेन ने घायल अवस्था मे कुछ बयान दिए थे घायल को गोली लगने से शरीर मे इंफेक्शन फैलने से अभी इलाज चल रहा है हालात सही होने पर मूलचंद्र के दोबारा बयानों के आधार पर कार्यवाही की जाएगी।

एसपी, एएसपी सहित पांच थानों की पुलिस ने संभाला मोर्चा

इस घटना के बाद जब तनाव की स्थिति बढ़ते देख आरोपियों को पुलिस का संरक्षण व राजनैतिक संरक्षण मिलने के आरोप लगाते हुए पेट्रोल पंप के पास झाँसी मिर्जापुर हाइवे पर लाश को रखकर  6 घंटे तक जाम लगा दिया तो मौके पर एसपी तिलक सिंह, एसपी जयराज कुबेर,सिविल लाइन टीआई अरविंद दांगी,हरपालपुर, नौगाँव,महाराजपुर का पुलिस बल तैनात रहा है।